25.1 C
Delhi
Sunday, September 25, 2022

Latest Posts

अक्षय तृतीया पर बाल विवाह होता दिखे तो डायल करे 1098 नंबर

फरीदाबाद, 27 अप्रैल। जिला कार्यकारी व महिला संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी हेमा कौशिक ने कहा कि जिला में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव की श्रृंखला में बाल विवाह करवाने वालों की अब जिला फरीदाबाद खैर नहीं है। ऐसे लोगों को जेल होगी और उन पर जुर्माना भी लगेगा।

हेमा कौशिक ने बताया कि जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में बाल विवाह निषेध अधिनियम को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिला में बाल विवाह नहीं होने देंगे, क्योंकि बाल विवाह कानूनी अपराध है।

उन्होंने कहा कि अक्षय तृतीया पर बाल विवाह होता दिखे तो तुरंत 1098 नंबर पर फोन करें , जिला में उपायुक्त जितेंद्र यादव के कुशल मार्गदर्शन में और सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव के तत्वावधान में अक्षय तृतीया पर बाल विवाह रोकने के लिए जागरूकता अभियान जारी है।

हेमा कौशिक ने आज बुधवार को गांव पखेल, कुरेशीपुर में महिलाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बाल विवाह करवाने वालों की दो साल की जेल और एक लाख रुपये का जुर्माना होगा। उन्होंने कहा कि लोगों के सहयोग से फरीदाबाद जिला में बाल विवाह नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि बाल विवाह निषेध अधिनियम को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बाल विवाह कानूनी अपराध है। अक्षय तृतीया पर बाल विवाह होता दिखे तो टोल फ्री 1098 नंबर डायल करें। जिला फरीदाबाद में आजादी के अमृत महोत्सव के तत्वावधान में अक्षय तृतीया पर बाल विवाह रोकने के लिए जागरूकता अभियान जारी है।

सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव के तत्वावधान में जिला मे महिलाओं को बाल विवाह कानूनी अपराध है बारे जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। इसकी उल्लंघन करने पर बाल विवाह निषेध अधिनियम 2006 के अनुसार सजा का प्रावधान किया गया है। दोषी पाए जाने पर बाराती, घराती और पण्डित जी सहित अन्य लोगों पर भी कानूनी कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि दोषियों को सजा जरूर दिलवाई जाएगी।

इस अधिनियम के अनुसार विवाह के लिए लड़की की आयु 18 वर्ष और लड़के की आयु 21वर्ष होनी चाहिए । उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार आजादी के अमृत महोत्सव की श्रंखला में अक्षय तृतीया पर जिला बाल संरक्षण विभाग द्वारा एक विशेष जन जागरण अभियान चलाया जा रहा है।

इस अभियान के तहत यदि आपको जिला मे बाल विवाह होता दिखे तो 1098 नंबर पर फोन करें। उन्होंने बताया कि जिला फरीदाबाद में अक्षय तृतीया पर बाल विवाह रोकने के लिए जागरूकता अभियान शुरू किया गया है। बाल विवाह रोकने के लिए प्रशासन सख्त हो गया है और शादियों पर नजर रहेगी। बाल विवाह करते पाए जाने पर घराती के साथ-साथ बाराती, पंड़ित व अन्य भी नपेंगे।

जिला कार्यकारी व महिला संरक्षण एंव बाल विवाह निषेध अधिकारी हेमा कौशिक ने कई विभागों के साथ बैठक कर बेहतर तालमेल करके खंड स्तर पर जागरूकता कार्यक्रमों द्वारा इस अभियान की शुरूआत की है। बाल विवाह के खिलाफ महिलाओं के साथ बैठक की गई व ग्रामीण क्षेत्र में जागरूकता रैली निकाली जा रही है। कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को आह्वान किया गया कि वे बाल विवाह जैसी बुराई को जड़ से खत्म करने में अपना सहयोग दे। उन्होंने कहा कि बाल विवाह दंडनीय अपराध है और बाल विवाह से बच्चों का भविष्य भी बर्बाद होता है। महिला संरक्षण और बाल विवाह निषेध अधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी के साथ मिलकर जिला बाल कल्याण समिती बाल कल्याण इकाई के साथ अभियान चलाया जा रहा है।

महिला संरक्षण एवं बाल विकास निषेध अधिकारी द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी व पुलिस अधीक्षक से भी मुलाकात करके बाल विवाह रोकने की अपील की है। संरक्षण बाल विवाह निषेध अधिकारी द्वारा सभी नागरिकों से अपील है कि यदि उनके संरक्षण में बाल विवाह का कोई मामला आता है तो तुरंत पुलिस हेल्पलाइन 112महिला हेल्पलाइन 181 संरक्षण एवं बाल विवाह निषेध अधिकारी के नंबर 9210474464 चाइल्ड हेल्पलाइन 1098 पर सूचना दें। ताकि समय-समय पर नाबालिग के विवाह को रुकवाया जा सके। जागरूकता अभियान में जिला में बाल विवाह नहीं होने देंगे की शपथ भी दिलवाई गई।

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.