22.1 C
Delhi
Thursday, December 9, 2021

Latest Posts

फरीदाबाद के बाल भवन में किया गया महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का आयोजन

2 नवंबर – फरीदाबाद : जिला बाल कल्याण परिषद फरीदाबाद व शिर्डी साईं बाबा टेंपल सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में आज बाल भवन में महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें महिलाओं को निशुल्क सेनेटरी पैड वितरित किए गए। कार्यक्रम में उपमंडल अधिकारी (ना०) बडकल पंकज सेतिया ने मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत की वहीं के मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मीडिया कोऑर्डिनेटर मुकेश वशिष्ठ व पूजा मलिक ने विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिर्डी साईं बाबा टेंपल सोसाइटी के अध्यक्ष डॉ मोतीलाल गुप्ता ने की। जहां पूरा देश आजादी के 75 वर्ष पूर्ण होने पर आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, वहीं हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद अपने 50 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में स्वर्ण जयंती का भी महोत्सव का आयोजन कर रही है। ऐसे शुभ अवसर को खास बनाने के लिए महिलाओं को आत्मनिर्भर, सशक्त व सुदृढ़ बनाने के लिए जिला बाल कल्याण परिषद के द्वारा किया गया यह कार्यक्रम सही मायनों में एक सराहनीय कदम है। इससे ना केवल घरेलू महिलाओं को बल्कि कामकाजी महिलाओं को भी समाज में आगे आने का हौसला मिलेगा। यह कार्यक्रम समाज में महिलाओं के उत्थान के लिए किया गया “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” अभियान का जीवंत उदाहरण है। इस अवसर पर डीसी मॉडल स्कूल, फरीदाबाद की दो छात्राएं नीरल कुकरेजा व मोनल कुकरेजा जिन्होंने इंटरनेशनल किक बॉक्सिंग में लगातार चार बार स्वर्ण पदक जीता है, उनको भी मुख्य अतिथि ने सम्मानित किया। इस मौके पर मुख्य अतिथि पंकज सेतिया ने राष्ट्रीय कवि देवेंद्र कुमार द्वारा रचित ‘बेटी और समाज’ की पुस्तक का भी विमोचन किया। मुख्य अतिथि सेतिया ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार द्वारा चलाया गया “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” अभियान वास्तविक शब्दों में साकार होता नजर आ रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से महिलाओं को समाज में आगे आने की प्रेरणा मिलती है।

विशिष्ट अतिथि के तौर पर पहुंचे मुख्यमंत्री मीडिया कोऑर्डिनेटर मुकेश वशिष्ट ने कहां की हरियाणा में सर्वप्रथम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान चलाया गया जिसके तहत 1 हजार लड़कों के पीछे 9 सौ 30 लड़कियों का अनुपात हो चुका है। यह केवल महिलाओं व लड़कियों के जागरुक होने की वजह से मुमकिन हो पाया है। उन्होंने कहा कि लड़कियों व महिलाओं को समाज में पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करना चाहिए जिससे अपनी सभी सपनों को आसानी से साकार कर सकें। उनको अनचाही बीमारी से बचाने के लिए सरकार द्वारा चलाई गई जागरुकता के मद्देनजर महिलाओं व लड़कियों को 22 लाख 50 हजार निशुल्क सेनेटरी पैड़ बांटने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि ऐसे ही समाज में जागरुकता रही तो वह दिन दूर नहीं जब 1 हजार लड़कों के पीछे 1 हजार लड़कियों का अनुपात होगा। इस अवसर पर जिला बाल कल्याण अधिकारी कमलेश शास्त्री, जिला बाल कल्याण परिषद के कार्यक्रम अधिकारी सुंदरलाल खत्री, महिला एवं विकास विभाग की कार्यक्रम अधिकारी मीनाक्षी, लोक उत्थान मंच के चेयरमैन आर.पी. हंस, टूगैदर वी विल फाउंडेशन के चेयरमैन मनीष पांधी, आजीवन सदस्य केदारनाथ अग्रवाल, प्रधानाचार्य मीनू व अन्य गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.