21.1 C
Delhi
Tuesday, October 19, 2021

Latest Posts

पर्यावरण को दूषित करने के अपराध में ब्राजील के राष्ट्रपति पर केस

13 अक्टूबर :- ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सोनारो के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय में केस दर्ज कराया गया है. आरोप है कुदरत के खिलाफ अपराध करने का.ऑस्ट्रिया में जलवायु परिवर्तन के लिए काम करने वाली एक संस्था ने ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय से अपील की है कि आधिकारिक तौर पर यह जांच की जाए कि उनकी नीतियां मानवता के खिलाफ अपराध हैं या नहीं. ऑलराइज नामक इस संस्था का कहना है कि प्रकृति के खिलाफ अपराध मानवता के खिलाफ अपराध हैं. इसके संस्थापक योहानेस वेजेमान ने कहा, “जायर बोल्सोनारो देखते-भालते अमेजन का विनाश करवा रहे हैं जबकि वह जानते हैं कि इसके क्या नतीजे होंगे.” ऑलराइज ने सोशल मीडिया पर दप्लेनेटवीज नाम से एक अभियान की भी शुरुआत की है. अमेजन पर कहर मौजूदा आंकड़े बताते हैं कि अमेजन के जंगलों की कटाई के कारण जितना कार्बन उत्सर्जन हो रहा है, वह इटली या स्पेन के सालाना कुल उत्सर्जन से ज्यादा है. इस कटाई के कारण इतनी कार्बन डाई ऑक्साइड निकलती है, जितनी अमेजन सोख नहीं सकता. बोल्सोनारो के खिलाफ आईसीसी में यह शिकायत तब दर्ज हुई है जब दुनिया अगले महीने ग्लासगो में होने वाले COP26 जलवायु सम्मेलन की तैयारी कर रही है और सबका ध्यान पर्यावरण की समस्याओं की ओर है. ऑलराइज के संस्थापक वेजेमान ने डॉयचे वेले से कहा कि आईसीसी में शिकायत करके वह दुनिया में जागरूकता बढ़ाना चाहते हैं, भले ही इस मामले में जीत की संभावना कम है. उन्होंने बताया, “जीत की परिभाषा क्या है, यह हमें तय करना होगा. अगर जीत का अर्थ बोल्सोनारो को जेल में डालना है तो संभावना कम है. लेकिन, दप्लेनेटवीज का मकसद यह नहीं है. अगर जीत का अर्थ है कि लोग जागरूक हों, आईसीसी हमारी बात सुने और एक शुरुआती जांच हो, तो वह सफलता होगी. ” अलग है यह केस वेजेमान उम्मीद कर रहे हैं कि यह मामला एक मिसाल बनेगा और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने वाले और ऐसे मामले सामने आएंगे. ऑलराइज को उम्मीद है कि इस शिकायत का असर अन्य देशों पर भी होगा और वे पर्यावरण विरोधी कदम उठाने से परहेज करेंगे. वेजेमान कहते हैं, “अगर हम आईसीसी की जांच शुरू करवाने में भी कामयाब हो जाते हैं तो यह सबूत होगा कि हमारा मामला आईसीसी के लिए प्रासंगिक है. फिर कोई सीईओ हो या राजनेता, अपने भविष्य के फैसलों को लेकर चौकस रहेगा. ” बताइए, क्या यह मेंढ़क डरावना है अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय में इस तरह का यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले द हेग में बोल्सोनारो के खिलाफ तीन और शिकायतें आ चुकी हैं. लेकिन यह मामला बाकियों से अलग है. वेजेमान बताते हैं, “हमारे इस कदम को ब्राजील का मजबूत समर्थन हासिल है. लेकिन हम ब्राजील के लोगों की तरफ से नहीं बोल रहे हैं. ना ही हम उनके प्रतिनिधि होने का दावा करते हैं. हम उनके संघर्ष को एक अंतरराष्ट्रीय आयाम देना चाहते हैं. अमेजन उनका है लेकिन उसकी जरूरत हम सबको है.” किसका है अमेजन बोल्सोनारो कहते रहे हैं कि अमेजन ब्राजील का है और उसके संसाधनों के इस्तेमाल में दखलअंदाजी देश के कृषि क्षेत्र को नुकसान पहुंचाने के मकसद से की जा रही है. इस बार आईसीसी में बोल्सोनारो के खिलाफ दर्ज शिकायत में ऐसे वैज्ञानिक आधार दिए गए हैं जो अमेजन के जंगलों की बढ़ती कटाई को उनकी नीतियों से सीधे तौर पर जोड़ते हैं और यह साबित करने की कोशिश करते हैं कि इन नीतियों का दुनियाभर की जलवायु पर नकारात्मक असर पड़ेगा. इस शिकायत में कहा गया है कि गर्मी बढ़ने के कारण सदी के अंत तक औसत से 180,000 मौतें ज्यादा होंगी. ऑलराइज कहता है, “बोल्सोनारो की सरकार सीधे और अप्रत्यक्ष रूप से अमेजन की कटाई के लिए जिम्मेदार है. तो यह पर्यावरण को जानबूझ़कर और अनियंत्रित नुकसान पहुंचाना है, जिसके न सिर्फ स्थानीय बल्कि वैश्विक स्तर पर भी असर होंगे.” अमेजन के जंगलों की कटाई के खिलाफ लंबे समय से दुनियाभर में विरोध हो रहा है. 2009 से 2018 के बीच सालाना औसतन 6,500 वर्ग किलोमीटर जंगल काटे गए थे. 1 जनवरी 2019 को बोल्सोनारो द्वारा सत्ता संभालने के बाद यह आंकड़ा बढ़कर 10,500 हो गया. रिपोर्टः जोन शेल्टन.

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.