21.1 C
Delhi
Tuesday, October 19, 2021

Latest Posts

सरकारी स्कूल के कक्षा 6 से 8 के विद्यार्थी भी करेंगे तकनीकी कोर्स

8 अक्टूबर – फरीदाबाद : उपायुक्त जितेन्द्र यादव ने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार अब सरकारी स्कूलों में 6टी से 8वीं तक के विद्यार्थियों को भी तकनीकी शिक्षा प्रदान की जाएगी। इसके लिए जिला फरीदाबाद के पांच स्कूलों का चयन किया गया है। इनमें राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल एन आईटी नम्बर एक,राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल एन आईटी नम्बर तीन,राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल बल्लभगढ़, राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल झाड़सेतली और राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल मूजेसर को शामिल किया गया है कक्षा छटी से आठवीं तक शिक्षा के अध्ययन की मौजूदा योजना में एक अलग जोड़ दिया गया है। इसमें भाषा, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान के सामान्य शिक्षा शिक्षक, कौशल के संगठन में कला, संगीत और कार्य अनुभव शामिल होगा शिक्षा विभाग द्वारा इन स्कूलों के शिक्षकों के ट्रेनिंग के लिए भी बजट जारी कर दिया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि अब तक कक्षा 9 से 12 में ही कक्षाओं में तकनीकी कोर्स करवाए जा रहे थे। जिला के पांच स्कूलों में तकनीकी कोर्स सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार करवाएं जाएंगे। उन्होंने बताया कि छात्रों को प्री-वोकेशनल एक्सपोजर दिए जाने के संबंध में सरकार में कक्षा 6 से 8 तक की कक्षाओं को शामिल किया गया है। शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार ने 2021-22 में प्रदेश में 110 सरकार को मंजूरी दी है। इनमें फरीदाबाद जिला में पांच स्कूलों को शामिल किया गया है। इन स्कूलों में प्री-वोकेशनल एक्सपोजर सरकार में कक्षा 6 से 8 तक के छात्रों दी जाएगी। इन स्कूलो को गर्व महसूस होना चाहिए कि आपका स्कूल उनमें से एक है जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि समग्र शिक्षा में पूर्व-व्यावसायिक शिक्षा की अवधारणा की गई है। यह शिक्षण-अधिगम प्रक्रियाओं के साथ कार्य आधारित गतिविधियों का एकीकरण, के बजाय कक्षा 6टी से 8वी तक शिक्षा के अध्ययन की मौजूदा योजना में एक अलग से जोड़ दिया गया है। उन्होंने बताया कि भाषा, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान के सामान्य शिक्षा शिक्षक, कौशल के संगठन में कला, संगीत और कार्य अनुभव शामिल होगा। उनके द्वारा पढ़ाए जा रहे विषयों से संबंधित गतिविधियाँ शामिल होंगी संबंधित स्कूल के प्रधानाचार्य या प्रधानाध्यापक के रूप में कार्य करेंगे। कार्यक्रम के मुख्य समन्वयक और निर्बाध समन्वय सुनिश्चित करेंगे और सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार कक्षा 6टी से 8वीं के छात्रों के लिए प्रभावी पूर्व-व्यावसायिक एक्सपोजर तैयार किया जाएगा। स्कूलों में उच्च प्राथमिक शिक्षकों के साथ और यदि आवश्यक हो, तो सहायता से लिया जा सकता है संबंधित व्यावसायिक शिक्षक के छात्रों को प्री-वोकेशनल एक्सपोजर देने के संबंध में दिशानिर्देश राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के अनुसार कक्षा 6टी से 8वी तक देखी जा सकती है। उन्होंने बताया कि पूर्व-व्यावसायिक एक्सपोजर के लिए सुझाए गए विषयों के साथ, सामान्य व्यक्तित्व विकास गतिविधियाँ और सामान्य जोखिम कक्षा 06वीं से 08वीं तक के छात्रों के लिए आधारित गतिविधियाँ जिनका उल्लेख भी किया गया है।

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.