21.1 C
Delhi
Tuesday, October 19, 2021

Latest Posts

ग्राम पंचायतों में चलाया गया स्वच्छता ही सेवा अभियान.

02 अक्टूबर – फरीदाबाद : उपायुक्त जितेंद्र यादव ने बताया कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए स्वच्छता को हमें जीवन का अभिन्न अंग बनाना होगा। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति है संकल्प ले कि वह अपने घर मोहल्ले और फिर गांव अथवा वार्ड में स्वच्छता अभियान में अपना योगदान देगा। उपायुक्त जितेंद्र यादव शनिवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जंयती के उपलक्ष्य में आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम के तहत स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के शुभारंभ अवसर पर अपना संदेश दे रहे थे। इसके अर्न्तगत जिला के विभिन्न गांव में स्वच्छता अभियान चलाया गया।इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान ने बताया कि उपायुक्त जितेंद्र यादव के मार्गदर्शन में जिला भर की सभी ग्राम पंचायतो में स्वच्छता ही सेवा अभियान कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर ग्राम पंचायतो में लगभग 800 किलो सिंगल यूज प्लास्टिक को इकटठा किया गया। लोगो को इसको प्रयोग ना करने के बारे मे जागरुक भी किया गया। उन्होंने बताया कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य लोगो को स्वच्छता के पति जागरुक कर उन्हें इस अभियान का भागीदार बनाना है। इसी उद्देश्य के लिए स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत स्वच्छता जागरुकता रथ के द्वारा भी गांव-गांव जाकर लोगो को निरन्तर जागरुक किया जा रहा है।

खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी तिगांव प्रदीप कुमार की अध्यक्षता में सफाई अभियान चलाया गया। जिसमे स्वाच्छ भारत मिशन ग्रामीण के डीपीएम, प्रेरको तथा ग्रामवासियो के द्वारा हिस्सा लिया गया। खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी प्रदीप कुमार ने बताया कि ग्राम पंचायतों एवं जिला के ग्रामीण क्षेत्र को स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 रैंकिग में राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानीय स्थान दिलाने के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रयास करने के लिए भी लोगो का प्रेरित किया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि जल शक्ति मंत्रालय भारत सरकार के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा वर्ष 2021 के द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। इस प्रतियोगिता में वर्ष 2019 में राष्ट्रीय स्तर पर फरीदाबाद जिला के ग्रामीण क्षेत्र ने द्वितीय स्थान प्राप्त किया था। ग्राम पंचायतों में स्वच्छ सर्वेक्षण 25 अक्टूबर के पश्चात शुरु होगा। इस दौरान स्वच्छता मे प्रत्येक जिला को स्वच्छता स्कोर के मुख्य बिन्दुओं खुले में शौच मुक्ति का स्टैटस, लोगो में स्वच्छता के प्रति जागरूकता, ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन, सामुदायिक शौचालयों का रख- रखाव, ग्राम पंचायत स्तर पर प्रशिक्षित स्वच्छ ग्राहियों की भूमिका, सामुदायिक कम्पोस्ट पिट एवं सामुदायिक सौख्ता गडढो की उपलब्धता इत्यादि के आधार पर रैंकिग की जाएगी।

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.