25.1 C
Delhi
Friday, September 17, 2021

Latest Posts

स्कूली बच्चों ने कम्पीटीशन कर बताया जल संरक्षण का महत्व

21 अगस्त – फरीदाबाद : उपायुक्त जितेंद्र यादव कुशल मार्ग दर्शन में जिला मे सरकार की हिदायतों के अनुसार जल शक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इसके लिए आम जन में जागरूकता लाकर अभियान का भागीदार बनाया जा रहा है। अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान को जलशक्ति अभियान का नोडल अधिकारी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि गत 15 अगस्त से शुरू होने वाले उत्सव “आजाद का अमृत महोत्सव” के संबंध में अगस्त 2021 से एक पुरस्कार के रूप में, जल शक्ति अभियान-II का कार्यक्रम है क्रियान्वित किया जा रहा है। यह अभियान प्रधान मंत्री द्वारा विश्व जल के अवसर पर भारत के गोवेम का शुभारंभ किया गया है अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर सिंह मान ने कहा कि मानव जीवन में जल की भूमिका महत्वपूर्ण है। जल ही जीवन है। जल नहीं तो कल नही। जल बिन जन जीवन ही सम्भव नहीं है। हमें अपने और अपनी पीढियों के भविष्य के लिए आज ही जल को संरक्षण करके लिए बचाना होगा। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण के लिए सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जलशक्ति अभियान के तहत यह जनजागरण चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जल शक्ति अभियान की तहत होने वाली गतिविधियों में और तेजी लाकर आम जनता को जागरूक करके इसका आमजन को भागीदार बनाना है। ताकि गिरते भूमि जल स्तर में सुधार किया जा सके और हमारे तथा आगे आने वाली पीढियों के बेहतर भविष्य के लिए जल संरक्षण किया जा सके। उन्होंने जल शक्ति अभियान के तहत करवाए जा रहे कार्यों के बारे में बताया कि इस अभियान के तहत मुख्यत: पांच बिंदु हैं, जिन पर कार्य किया जा रहा है। जिनमें गांव व शहरी क्षेत्रों में तालाबों के जीर्णोद्वार, पौधारोपण, पुराने कुओं की सफाई व रख-रखाव, घरों में रैनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के लिए जागरूक करना, घरों व रसोई के प्रतिदिन के पानी के लिए सोखता गड्ढे बनवाना शामिल हैं। एडीसी सतबीर मान ने कहा कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए ग्राम सभाओं में गांव में जल संरक्षण के लिए योजना तैयार करके उन्हें ग्राम स्तर पर क्रियान्वित जा रहा है। पंचायत स्तर पर अनेक कार्य हैं, जिनके द्वारा गांव में जल संरक्षण को बढावा दिया जा रहा है। किसानों को जागरूक कर उन्हें कम पानी में उगने वाली फसलों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। किसानों को सरकार द्वारा जारी मेरा पानी मेरी विरासत स्कीम के तहत टपका सिंचाई प्रणाली अपनाने पर अधिक जोर दिया जा रहा है।

जल शक्ति अभियान को जिला में सफल बनाने के लिए जल संरक्षण के लिए स्वयं भी जागरूक होकर अन्य सहयोगियों को भी जागरूक करें। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण करके मानव जीवन के लिए और पेड़ पौधे लगाकर सरकार द्वारा जारी शिकायतों के अनुसार जल शक्ति अभियान को बेहतर रूप दिया जा सकता है। अतिरिक्त उपायुक्त सतबीर मान ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग की अधिकारियों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा सहायकों के सहयोग से महिला जनप्रतिनिधियों के साथ प्रभातफेरी निकाल कर लोगों को जल संरक्षण के लिए प्रेरित किया जा रहा है। एडीसी सतबीर मान ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि वे भी जल शक्ति अभियान का हिस्सा बनकर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करें। सरकार की कोई भी जन कल्याणकारी योजना आम जन भागीदारी और जागरूकता से ही सही रूप से क्रियान्वित होती है। आमजन जल शक्ति अभियान का को अपनाकर जल संरक्षण करके अपनी हिस्सेदारी करें और सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जल शक्ति अभियान को सफल बनाएं। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा गांवों में आंगनबाड़ी सुपरवाइजर तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के सहयोग से महिलाओं द्वारा साथ जल शक्ति अभियान के तहत आम लोगों में जागरूकता लाने और उन्हें जल संरक्षण के लिए प्रेरित करने के लिए प्रभात फेरी निकाली जा रही हैं। प्रभात फेरी के माध्यम से आमजन को जल शक्ति अभियान के तहत जल संरक्षण बारे जागरूक किया गया। उन्होंने बताया कि जल शक्ति अभियान के तहत हमें जल का अधिक से अधिक मात्रा में संरक्षण करना है। बरसाती पानी के सदुपयोग के लिए बेहतर कार्य करें और इसको व्यर्थ नहीं जाने दें। जल का संरक्षण करना है, पेड़ पौधे लगाकर उन पौधों के लिए उपयोग में लाएं तथा पौधों का पूर्ण रूप से पालन पोषण करना भी जल संरक्षण अभियान का एक अभिन्न अंग है। इसके अलावा ड्रेनेज के माध्यम से बोर करके जल संरक्षण किया जा सकता है। आजादी के अमृत उत्सव एवं जल जीवन मिशन व जल शक्ति अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। अमृत उत्सव मनाते हुए बच्चों को बताया कि बरसात की कमी एवं भूमिगत जल के अत्यधिक दोहन के कारण हमारे पानी के सभी स्रोत सूखते जा रहे हैं। अत्यधिक पानी की बर्बादी के कारण भूजल स्तर बड़ी तेजी से गिर रहा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में लगातार जलस्तर कम हो रहा है। जबकि पानी का प्रयोग निरंतर बढ़ रहा है। इसलिए पानी को बचाना है, तो इसके लिए हमें अपनी आदतों में सुधार लाना होगा। जिला शिक्षा अधिकारी ऋतु चौधरी ने बताया कि जल शक्ति अभियान का सिद्धांत “बारिश को पकड़ें, जहां गिरे, जब गिरे।” इसको 75 वें साल की आजादी के पर्व को “आजादी का अमृत” के रूप में मनाया जा रहा है। इस प्रकार “आजादी का अमृत महोत्सव” आजादी के 75 साल पूरे होने पर होगा। यह अभियान गत 15 अगस्त 2021 को शुरू हुआ है और आगामी 15 अगस्त 2022 तक चलेगा। जल शक्ति अभियान-I के आविष्कारों और गतिविधियों के संबंध में, यह इस प्रकार तय किया गया है कि “आजादी का अमृत महोत्सव” पूरे जिला में काम करेगा।

 

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.