ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट (THSTI) ने मनाया अपना 12वां स्थापना दिवस

0
35

18 जुलाई-फरीदाबाद (प्रधुम्न कौशल) | ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट (THSTI) ने अपना 12वां स्थापना दिवस मनाया। जिसमें मुख्य अतिथि राज्य मंत्री (आईसी) डॉ. जितेंदर सिंह शामिल हुए। उनके साथ डॉ. रेनू स्वरुप सचिव, जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी), डॉ. एंथोनी एस. फौसी

निदेशक, राष्ट्रीय एलर्जी और संक्रामक रोग संस्थान, एनआईएच, यूएसए और डॉ. सौम्या स्वामीनाथन मुख्य वैज्ञानिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) भी शामिल रहे।

डॉ. जितेंदर सिंह ने बायोटेक साइंस क्लस्टर में इम्यूनोलॉजी कोर लेबोरेटरी, बायोसेफ्टी लेवल -3 फैसिलिटी (बीएसएल-3), स्मॉल एनिमल फैसिलिटी (एसएएफ), फेरेट फैसिलिटी, बायोरिपॉजिटरी और ओलो कनेक्टिविटी सुविधाओं का उद्घाटन किया और उनके द्वारा वृक्षारोपण भी किया गया।

 

उन्होंने दीप प्रज्वलित करके म.के. भान ऑडिटोरियम का भी उद्घाटन किया। प्रो. शालिनी भटनागर द्वारा डॉ. जितेंदर सिंह का स्वागत किया गया। आखिर में डॉ. जितेंदर सिंह ने कहा की महामारी की तैयारी में नवाचारों हेतु गठबंधन (CEPI) एक वैश्विक पहल है, जिसने ट्रांसलेशनल हेल्थ साइंस एंड टेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट, फरीदाबाद को उन छह प्रयोगशालाओं में से एक के रूप चुना है जो COVID-19 वैक्सीन के परीक्षण हेतु उम्मीदवारों का आकलन कर रही हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here