मुख्यमंत्री बाल संरक्षण योजना के तहत कोविड-19 में 5 बच्चों के माता पिता खोने की मिली जानकारी

0
13

6 जुलाई-फरीदाबाद। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि जिला में ऐसे 5 बच्चों की जानकारी बाल संरक्षण ईकाई को मिली, जिनके माता पिता का कोविड-19 के संक्रमण से निधन हो गया हैं। उन्होंने बताया कि इन पांच बच्चों में से दो बच्चों के माता पिता का कोविड संक्रमण से इस दुनिया से चले जाने की कानूनी प्रक्रिया की जा रही है। इनमें से 3 बच्चों के माता पिता के कोविड-19 के संक्रमण से इस दुनिया से चले जाने के पूरे प्रमाण पत्र बाल संरक्षण ईकाई को नहीं मिले हैं। इन तीनों बच्चों के माता पिता के कोरोना संक्रमण से मृत्यु होने की पुष्टि के पूरे कागजात मिलने पर जिला बाल संरक्षण ईकाई द्वारा कानूनी प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।

उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतो के अनुसार ऐसे बच्चे जिनके माता पिता कोरोना संक्रमण से इस दुनिया से चले गए हैं, उन्हें मुख्यमंत्री बाल संरक्षण योजना के 1 हजार 500 रुपये प्रति महिना दिया जाएगा और 18 वर्ष की आयु के बाद 1 हजार 800 रुपये दिये जाएंगे। इन बच्चों में से जो बच्चे पढ़ाई करना चाहेंगे उन्हें कस्तूरबा गांधी स्कूलों में दाखिला दिलवाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 8 से 12 वर्ष के आयु के बच्चों को अपनी वोकेशन चुज करने के लिए सरकार द्वारा जारी बाल सेवा योजना के तहत टेबल उपलब्ध करवाए जाएंगे।

इस योजना के क्रियान्वित करने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग, चेयर पर्सन बाल विकास, जिला बाल संरक्षण ईकाई बाल सेवा योजना के माध्यम से मिलने वाली सभी सुविधाओं का लाभ यथाशीघ्र जिला में लाभान्वित बच्चों को देना सुनिश्चित करेंगी।जिन बच्चों के मां-बाप कोविड-19 संक्रमण की बीमारी से इस दुनिया से चले गए हैं। बाल सेवा योजना का लाभ बच्चों को देने के लिए सरकार गंभीर है और सरकार इस योजना के क्रियान्वयन पर गंभीरता से कार्य कर रही है।

उपायुक्त यशपाल ने कहा कि जिस भी अधिकारी या प्रतिनिधि को सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार जो जिम्मेदारी इस योजना के तहत दी गई है उन्हें यथाशीघ्र पूरा करना होगा।

उपायुक्त यशपाल ने महिला एवं बाल विकास विभाग, बाल संरक्षण इकाई, स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा विभाग तथा इस योजना से जुड़े अन्य विभागों के अधिकारियों को इस बारे में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार दिशा निर्देश दिए। उपायुक्त यशपाल ने इस योजना से सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुए कहा कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार बाल सेवा योजना के तहत यह प्रक्रिया पूरा करने के लिए https://wcdhry.gov.in/ पर भी आवेदन कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत वह स्वयं गम्भीर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here