देशभर में कोरोना की दूसरी लहर बच्चों और युवाओं के लिए बनी खतरा, 80 हजार मासूम हुए कोरोना संक्रमित

0
10

18 अप्रैल, फरीदाबाद । देश में कोरोना की दूसरी लहर अब बेकाबू होती नजर आ रही है, रोजाना कोरोना के रिकॉर्ड तोड़ मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना वायरस का ये नया स्ट्रेन इसलिए भी खतरनाक है क्योंकि अब ये युवाओं और छोटे बच्चों में तेजी से फैल रहा है। गुजरात के सूरत में हाल ही में एक 14 दिन की बच्ची ने कोरोना वायरस के आगे दम तोड़ दिया है।

सूरत में 14 दिन की बच्ची की कोरोना से मौत अपने आप में चिंताजनक है। आपको बता दें कि मार्च से लेकर अप्रैल तक कोरोना की दूसरी लहर में 80 हजार बच्चे कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और दिल्ली में अब तक कुल 79,688 बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं।

महाराष्ट्र
महाराष्ट्र देश का एक ऐसा राज्य है, जो कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां एक मार्च से चार अप्रैल तक 60,684 बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए। इनमें से 9,882 बच्चों की उम्र पांच साल से कम है। महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा छोटे बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।

छत्तीसगढ़
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र के बाद छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं। यहां 5,940 बच्चे कोरोना की चपेट में आए हैं। इनमें से 922 बच्चे छोटी उम्र के हैं।

उत्तर प्रदेश
राज्य में कोरोना का कहर अब तेजी से फैल रहा है। यहां 3,004 बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं, इनमें 471 बच्चों की उम्र पांच साल से कम है।

कर्नाटक
कर्नाटक में भी बड़ी संख्या में छोटे बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। यहां पांच साल के 871 बच्चे कोरोना की चपेट में हैं, वहीं कुल संक्रमित मरीजों की बात की जाए तो यहां कोरोना 7,327 मामले सक्रिय हैं।

दिल्ली
दिल्ली में भी पिछले कुछ दिनों से कोरोना का कहर बहुत तेजी से फैल रहा है। यहां चार अप्रैल तक 2,733 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए। इनमें से 441 बच्चों की उम्र पांच साल से कम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here