29.1 C
Delhi
Tuesday, September 28, 2021

Latest Posts

जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बल्लभगढ़ में कन्या भ्रूणहत्या लिगं जाँच के चलते चौहान अस्पताल में मारा छापा

13 अप्रैल, फरीदाबाद । सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने गुप्त सूचना के आधार पर एक टीम का गठन किया जिसमे डॉ. प्रवीण नोडल अधिकारी PNDT, डॉ. प्रियंका LMO और DCO क्रिशन कुमार मौजूद थे। टीम को क़रीब 1 बजे सिविल अस्पताल पलवल से गुप्त रूप से रवाना किया गया और एक गुप्त सूचना में पता चला कि बल्लभगढ़ में कुछ लोग अवैध लिगं जाँच कर गर्भपात के लिए महिलाओं को यूपी में एक जगह पर लेकर जाते हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने एक नकली ग्रहक तैयार किया। उसके बाद उसके हाथ में 15 हज़ार रुपये देकर चौहान अस्पताल हाउस नम्बर एमसीएफ 148/13 सरस्वती स्कूल के समीप भगत सिंह कॉलोनी बल्लभगढ़ भेजा गया। चौहान अस्पताल में 15 हज़ार रुपये उससे ले लिए। इसके लिए उन्होंने एक पेपर पर मैप बनाकर दिया और कहा कि हम सुबह 7 बजे तुम्हारा काम करवा देंगे। इसके लिए तुम्हे हमारे साथ बहजोई जिला संभल जाना होगा जो की यूपी में स्थित है। स्वास्थ्य विभाग की टीम वही पर मौजूद रही। पता चला कि वहाँ पर बहजोई में कोई अमित नाम का लैब टेक्नीशियन है और वह ग़ैर क़ानूनी रूप से भ्रूण लिगं जाँच व गर्भपात करता है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने नकली ग्रहक को चौहान क्लिनिक पर भेजा व वहां पर डॉ. सुंदर पाल चौहान ने बच्चे की लिगं जाँच करके गर्भपात कराने के लिए अमित कुमार से मिलने के लिए कहा क़रीब शाम 4 बजे बल्लभगढ़ चौहान क्लिनिक पर छापा मारकर 15 हजार रुपए बरामद कर लिए है।

सिविल अस्पताल की टीम ने बताया कि चौहान क्लिनिक पर क्लिनिक के डॉ. का नाम सुंदर पाल चौहान बताया गया है। जो की ख़ुद को बीएएमएस बताता है, लेकिन वो अपनी डिग्री नहीं दिखा पाया तो उसके पास कोई डिग्री नहीं थी और उसकी पत्नी ने अपना नाम अंजू चौहान बताया उसने बताया कि उसने जीएनएम का कोर्स किया हुआ है। लेकिन उसके पास भी कोई डिग्री नहीं मिली और वो दोनों चौहान क्लिनिक घर पर ही चलाते हैं, जिसमें वो ग़ैर क़ानूनी रूप से डिलीवरी व एमटीपी करते है। स्वास्थ्य विभाग पलवल की टीम ने उनके क्लिनिक से यूज़ की गई एमटीपी किट और औज़ार बरामद कर लिए। पलवल स्वास्थ्य विभाग की टीम ने तुरंत फरीदाबाद स्वास्थ्य विभाग की टीम को भी बुला लिया और उनके ख़िलाफ़ कार्यवाही की गई और दोनों के ख़िलाफ़ एफ़आइआर की गई और दोनों को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। ये दोनों पलवल क्षेत्र की गर्भवती महिलओं को उत्तरप्रदेश व दिल्ली में अल्ट्रासाउंड द्वारा जाँच कराने के लिए 15 से 20 हजार तक रुपए लेकर जाँच कराते थे।

सिविल सर्जन डॉ. ब्रह्मदीप ने बताया कि कन्या भ्रूणहत्या लिगं जाँच करता कोई पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त-से-सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि वह बेटी बचाओ बेटी पढाओ का सहयोग करते है। उन्होंने सभी से अपील कि जिसे भी घ्रणित कृत्य पता चलता है, अपनी सामाजिक जिम्मेदारी समजते हुए तुरंत स्वास्थ्य विभाग को सूचित करे व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा।

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.