14.1 C
Delhi
Friday, December 2, 2022
No menu items!
More
    No menu items!

    Latest Posts

    जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने कोरोना महामारी के बावजूद विद्यार्थियों को दिए बेहतर रोजगार

    4 अप्रैल, फरीदाबाद । कोरोना महामारी से उत्पन्न हुए हालातों के बावजूद विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने में जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वर्ष 2020-21 में कोरोना काल दौरान विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने अब तक का उच्चतम 29.92 लाख रुपये का सालाना पैकेज हासिल किया है और विश्वविद्यालय के प्लेसमेंट अभियान में रिकार्ड 225 कंपनियों ने हिस्सा लिया।
    विश्वविद्यालय द्वारा चलाये गये प्लेसमेंट अभियान में सैमसंग आरएंडडी दिल्ली द्वारा 11, अमेजन द्वारा 6, एयरटेल द्वारा 4, एडोब सिस्टम तथा बीएनवाई मेलन द्वारा 2, मीडियाडाॅटनेट, स्क्वाड स्टैक और पालो ऑल्टो द्वारा एक-एक छात्र का चयन 10 लाख रुपये से 29.92 लाख रुपये के सालाना पैकेज पर किया है। इस बार 29.92 लाख रुपये सालाना के उच्चतम पैकेज की पेशकश मीडियाडाॅटनेट सॉफ्टवेयर सर्विसेज द्वारा की गई जबकि अमेजन ने 28.75 लाख रुपये सालाना का पैकेज बरकरार रखा है।

    विश्वविद्यालय के प्लेसमेंट रिकार्ड पर प्रसन्नता जताते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के बावजूद विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने प्लेसमेंट के क्षेत्रों में खुद को साबित किया है। कुलपति ने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्थान के लिए यह गौरव की बात होती है जब उस संस्थान के विद्यार्थियों की क्षमता और योग्यता को औद्योगिक क्षेत्र में पहचान एवं सराहना मिलती है। विद्यार्थियों ने विश्वविद्यालय की इस परम्परा को बरकरार रखा है। यह बेहद सुखद है कि विश्वविद्यालय में अंतिम परीक्षा परिणामों से पहले ही विद्यार्थियों का रोजगार सुनिश्चित हो जाता है।
    उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय ने भी अपनी स्थापना से अब तक निरंतर विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। प्लेसमेंट के लिए विश्वविद्यालय हमेशा से शीर्ष बहुराष्ट्रीय कंपनियों की पसंद रहा है। विश्वविद्यालय द्वारा औद्योगिक जरूरतों के अनुरूप तकनीकी शिक्षा की गुणवत्ता के लिए किये जा रहे प्रयासों का परिणाम है कि प्लेसमेंट रिकार्ड में भी प्रतिवर्ष सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के भूतपूर्व विद्यार्थी आज पूरे विश्वभर में अपनी क्षमताओं की बदौलत प्रतिष्ठित कंपनियों में महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे है, जिमसें डेकिन इंडिया, अमेजन, सैमसंग तथा कई अन्य बहु-राष्ट्रीय कंपनियां शामिल हैं।

    प्लेसमेंट, एलुमनी एवं कॉरपोरेट मामलों के डीन प्रो. विक्रम सिंह ने कहा कि महामारी के बावजूद प्लेसमेंट को लेकर कंपनियों का अच्छा रिस्पांस हैं। आईटी और कंप्यूटर के अलावा भी विश्वविद्यालय को इंजीनियरिंग के क्षेत्र में काम करने वाली कंपनियों से अच्छा रिस्पांस मिल रहा है, जिसमें मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग भी शामिल हैं। कई बहुराष्ट्रीय कंपनियां कैंपस से फ्रेशर्स की नियुक्ति कर रही हैं। अमेजॅन, सैमसंग आरएंडडी, एयरटेल और एडोब कुछ ऐसी प्रमुख कंपनियां हैं जो प्रतिवर्ष प्लेसमेंट के लिए आ रहे है। आकर्षक सैलरी पैकेज के कारण अमेजॅन और सैमसंग आरएंडडी में विद्यार्थियों की पसंद सबसे ज्यादा रहती है। अमेजॅन लगातार 28 लाख रुपये से अधिक के पैकेज की पेशकश कर रही है जबकि सैमसंग आरएंडडी में विद्यार्थियों को 10 से 14 लाख रुपये के बीच पैकेज मिल रहे है। इसके साथ-साथ सैमसंग आरएंडडी की दिल्ली, नोएडा और गुरुग्राम में स्थित सभी इकाइयां प्लेसमेंट में हिस्सा ले रही है।

    प्लेसमेंट रिकार्ड में आये सुधार पर विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग व प्लेसमेंट ऑफिसर डाॅ. संजीव कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा विद्यार्थियों के लिए सॉफ्ट स्किल तथा मॉक इंटरव्यू पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आमतौर पर प्लेसमेंट अभियान वर्ष के मध्य में शुरू होता है लेकिन कोरोना महामारी के कारण यह देर से शुरू हुआ। अधिकांश कंपनियों द्वारा साक्षात्कार एवं चयन प्रक्रिया ऑनलाइन ही आयोजित की गई। इस वर्ष अब तक विश्वविद्यालय ने सबसे ज्यादा सर्वाधिक 410 प्लेसमेंट दर्ज हुई है जबकि वर्ष 2019-20 में यह 402 थी। इसी प्रकार, उच्चतम पैकेज भी 28.75 लाख रुपये से बढ़कर 29.92 लाख रुपये हो गया है। औसतन पैकेज जो कि वर्ष 2019-20 में 3.78 था, यह औसत बढ़कर लगभग चार लाख रुपये पहुंच गई है।

    Latest Posts

    Don't Miss

    Stay in touch

    To be updated with all the latest news, offers and special announcements.