जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने शिगन एवोल्टज लिमिटेड के साथ किया समझौता

0
12

13 मार्च, फरीदाबाद । इलेक्ट्रिकल वाहन विनिर्माण क्षेत्र में विद्यार्थियों के लिए रोजगार की संभावनाओं पता लगाने के लिए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के कम्युनिटी कॉलेज ऑफ स्किल डेवलपमेंट और एलुमनी एंड कॉर्पोरेट अफेयर्स सेल ने इलेक्ट्रिक वाहन की अग्रणी निर्माता कंपनी शिगन एवोल्टज लिमिटेड के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये। यह समझौता विद्यार्थियों का इलेक्ट्रिकल वाहन विनिर्माण के क्षेत्र कौशल विकास तथा बीटेक स्तर पर उनके अभिनव विचारों को सहयोग देने पर केंद्रित है, जिससे विद्यार्थियों को इलेक्ट्रिकल वाहन विनिर्माण उद्योग की आवश्यकता के अनुसार जरूरी कौशल उपलब्ध होगा।
कम्युनिटी कॉलेज ऑफ स्किल डेवलपमेंट के प्रिंसिपल तथा निदेशक, एलुमनी एंड कॉर्पोरेट अफेयर्स डॉ. संजीव गोयल और शिगन एवोल्टज लिमिटेड के प्रबंध निदेशक गगन अग्रवाल ने कुलपति प्रो. दिनेश कुमार और कुलसचिव डॉ. एस.के. गर्ग की उपस्थिति में समझौते पर हस्ताक्षर किये। इस अवसर पर डीन एलुमनी, प्लेसमेंट एंड कॉर्पोरेट अफेयर्स प्रो. विक्रम सिंह, सहायक निदेशक डाॅ. सपना तनेजा, तथा एलुमनी एंड कॉर्पोरेट अफेयर्स सेल के सदस्य नितिन गोयल भी उपस्थित थे।
कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने समझौते पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि नये युग के सभी वाहन अत्याधुनिक तकनीकी पर आधारित है जो कि अधिक उन्नत और स्मार्ट हैं। इसलिए भविष्य में उद्योगों को आगे बढ़ने के लिए नये कौशल और ज्ञान की आवश्यकता होगी। उन्होंने कहा कि शिगन एवोल्ट्ज के सहयोग से विश्वविद्यालय की कुशल कार्यबल की आवश्यकता पूरी होगी और विद्यार्थियों को रोजगार के नये अवसर उपलब्ध होंगे।
प्रो. विक्रम सिंह ने कहा कि समझौते का उद्देश्य विद्यार्थियों को नौकरी प्रशिक्षण, इंटर्नशिप और प्लेसमेंट सुविधाएं प्रदान करना है। कंपनी छात्रों की रोजगार क्षमता को बढ़ाने के लिए सेमिनार, प्रशिक्षण और कार्यशाला भी आयोजित करेगी। इसके अलावा, विद्यार्थियों और संकाय सदस्यों को कौशल विकास के लिए परियोजनाओं पर काम करने का अवसर भी मिलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here