25.1 C
Delhi
Friday, September 17, 2021

Latest Posts

हरियाणा में भी होली के सार्वजनिक आयोजनों पर लगी रोक

25 मार्च, फरीदाबाद । देशभर में एक बार फिर बेकाबू होते कोरोना वायरस ने होली के रंग में भंग डालने का काम किया है। कोरोना के मद्देनजर राज्य सरकारों ने इस महामारी को काबू करने के लिए फिर से एक बार सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। दिल्ली, यूपी, मुंबई समेत कई राज्यों की तरह हरियाणा की खट्टर सरकार ने भी इस बार होली का त्योहार सार्वजनिक तौर पर मनाने पर रोक लगा दी है। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने बुधवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी है।

अनिल विज ने ट्वीट कर कहा, ”हरियाणा सरकार ने कोरोना के मद्देनजर होली का त्योहार सार्वजनिक तौर पर मनाने पर रोक लगाई।” विज ने कहा कि कोविड को देखते हुए हरियाणा के अंदर हमने सार्वजनिक तौर पर होली खेलने पर प्रतिबंध लगाया है। लोग होली का त्योहार अपने घरों के अंदर ही मनाएं, इस पर हमें एतराज नहीं है।

हालांकि, चार दिन पहले विज ने कहा था कि हमने अभी लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू के बारे में नहीं सोचा है। हमने अधिकारियों को आदेश दिए हैं कि कोरोना प्रोटोकॉल को सख्ती से लागू कराया जाए। जहां भीड़ इकट्ठा होती है, वहां 3 सदस्यीय समिति बनाई जाएगी। जिसमें एक डीसी का, एक एसपी का और एक सीएमओ का प्रतिनिधि होगा। दिल्ली, मुंबई, उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, चंडीगढ़, पंजाब समेत कई राज्यों और शहरों में प्रशासन ने होली को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं। ऐसे में त्योहार मनाने के साथ ही इन गाइडलाइंस का ध्यान भी रखना होगा ताकि रंग में भंग की स्थिति न पैदा हो।

जानकारी के अनुसार, हरियाणा में मंगलवार को तीन और लोगों की मौत के बाद कोरोना वायरस से संबंधित मौत का आंकड़ा बढ़कर 3,104 हो गया, जबकि 895 ताजा मामले सामने आने के बाद संक्रमण का ग्राफ 2,81,588 पर पहुंच गया है। स्वास्थ्य विभाग के एक बुलेटिन के मुताबिक, मंगलवार को करनाल, यमुनानगर और कुरुक्षेत्र जिलों से एक-एक मरीज की मौत हुई थी। ताजा मामलों में, गुड़गांव से 188, करनाल से 139, अंबाला से 118 और पंचकूला से 89 मामले सामने आए थे। वर्तमान में, राज्य में 6,149 सक्रिय मामले हैं, जबकि रिकवरी रेट 96.71 प्रतिशत है। हरियाणा में अब तक 12,00,479 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

दिल्ली में होली-नवरात्रि पर सार्वजनिक उत्सव मनाने पर प्रतिबंद
इससे पहले कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने भी मंगलवार को आदेश दिया कि होली और नवरात्रि जैसे आगामी त्योहारों के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में सार्वजनिक रूप से समारोह नहीं मनाए जाएंगे। दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि आदेश का कड़ाई से पालन किया जाए। विजय देव ने आदेश में कहा कि सभी संबंधित अधिकारी सुनिश्चित करेंगे कि होली, शब-ए-बारात, नवरात्रि आदि आगामी त्योहार के दौरान भीड़ इकट्ठी नहीं हो और राजधानी दिल्ली में सार्वजनिक रूप से त्योहार नहीं मनाए जाएं। दिल्ली में मंगलवार को कोराना वायरस के 1101 नए मामले सामने आए जो पिछले तीन महीने में सर्वाधिक हैं। वायरस से चार लोगों की मौत भी हो गई थी।

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.