इंटरनेट सेवा बन्द होने से जिला में नही भरे जा सके गूगल फार्म

0
4

30 जनवरी – फरीदाबाद । छठी से आठवीं क्लास के छात्रों को स्कूल में बुलाने से पूर्व गूगल फार्म भरने का जो नियम लागू किया गया था। उसकी कवायद पलवल जिला में इंटरनेट सेवाएं बन्द होने के चलते शुरू भी नही हो पाई। फार्म भरने की अंतिम तिथि शुक्रवार को समाप्त हो गई । इसके बावजूद उक्त क्लासेस के लिए स्कूल निर्धारित एक तिथि एक फरवरी से खुलेंगे। उल्लेखनीय है कि कक्षा 9 से 12वीं के बाद हरियाणा शिक्षा निदेशालय ने कक्षा 6 से 8वीं तक के स्कूल खाेलने के अादेश जारी कर दिए हैं। हरियाणा शिक्षा बोर्ड से सम्बंधित सरकारी और निजी स्कूलाें में कक्षा 6 से 8वीं तक के बच्चाें की संख्या 26 हजार 897 हैं। स्कूल मुखियाअाें काे काेविड-19 काे लेकर जारी की गई गाइडलाइन का पालन करना हाेगा। क्लास शुरू हाेने से पहले और बाद में रूम काे सैनिटाइज करवाना हाेगा। अभिभावकाें की सहमति और डाॅक्टर द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र आवश्यक है। अगर किसी विद्यार्थी में काेविड-19 संक्रमण के लक्षण पाए जाते हैं ताे उसे 10 दिन तक घर पर क्वारेंटाइन रहना हाेगा। जिला शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल ने बताया कि शिक्षा निदेशालय के डायरेक्टर प्राइमरी नितिन यादव ने वीडियाे काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के शिक्षा अधिकारियाें के साथ बैठक की। उन्हाेंने कक्षा 6 से 8 तक के स्कूल 1 फरवरी से शुरू करने के अादेश दे दिए हैं। कक्षा 9 से 12वीं तक के लिए जारी की गई गाइडलाइन कक्षा 6 से 8वीं तक के लिए भी लागू रहेगी।
बिना मास्क स्कूल में बच्चाें काे नहीं देंगे एंट्री
जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि बिना मास्क के बच्चाें काे स्कूल में एंट्री नहीं दी जाएगी। बैंच पर एक सीट छाेड़कर बच्चाें काे बिठाया जाएगा। स्कूल के गेट पर स्टैंडी सैनिटाइजर रहेगा। स्कूल में प्रवेश के वक्त बच्चाें के हाथाें काे सैनिटाइज करवाना हाेगा। क्लास शुरू होने से पहले अाैर बाद में रूम काे सैनिटाइज करवाना हाेगा।
10 दिन के लिए रहना हाेगा क्वारेंटाइन
जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि कक्षा 6 से 8वीं तक बच्चाें के लिए अभिभावकाें की सहमति अनिवार्य हाेगी। बच्चे काे किसी भी डाॅक्टर से सर्दी, बुखार अाैर खांसी के लक्षण न हाेने का प्रमाण-पत्र लाना हाेगा। इसके बाद ही स्कूल में एंट्री दी जाएगी। इसके बाद भी अगर किसी बच्चे की तबीयत बिगड़ती है ताे उसे घर में क्वारेंटाइन कर दिया जाएगा। साथ ही उस क्लास काे तीन दिन के लिए बंद कर बच्चाें काे दूसरे रूम में शिफ्ट किया जाएगा।
15 फरवरी से कक्षा 5 तक की कक्षाएं हाे सकती हैं शुरू
शिक्षा अधिकारी ने बताया कि विभाग द्वारा कक्षा 6 से 8वीं तक की कक्षाएं बताैर ट्रायल बेस शुरू की जा रही हैं। अगर यह ट्रायल सफल हाे गया ताे 15 फरवरी से कक्षा 1 से 5वीं तक की कक्षाएं भी शुरू की जा सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here