जे.सी. बोस यूनिवर्सिटी द्वारा गीता जयंती पर व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया

0
23

21 दिसंबर – फरीदाबाद | जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय वाईएमसीए फरीदाबाद द्वारा गीता जयंती के उपलक्ष्य में एक व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया है। यह व्याख्यान श्रृंखला राज्य सरकार द्वारा 25 दिसंबर 2020 तक आयोजित अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2020 का हिस्सा है।

कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कहा कि भगवत गीता का पवित्र ग्रंथ है जो हमें कार्य, जीवन, धर्म, दर्शन और आध्यात्मिकता से संबंधित विभिन्न महत्वपूर्ण सिद्धांत सिखाता है तथा जीवन की जटिलताओं को दूर करने में मदद करता है। इस प्रकार भगवत गीता हम सभी के लिए जीवन का मार्ग है क्योंकि यह दर्शाता है कि एक सही जीवन कैसे जिया जाए। उन्होंने कहा कि भगवद गीता का दर्शन विद्यार्थी जीवन में चिंता और आत्म-संदेह जैसे मुद्दों से लड़ने के लिए उपयोगी है।

पांच दिवसीय व्याख्यान श्रृंखला के दौरान विभिन्न क्षेत्रों के प्रख्यात वक्ता छात्र जीवन में भगवत गीता की प्रासंगिकता पर चर्चा करेंगे और अष्टांग योग, संघर्ष में संकल्प के रूप में गीता, सकारात्मक सोच, मस्तिष्क नियंत्रण और कर्मयोग विषय पर अपने विचार प्रस्तुत करेंगे। इसी कड़ी में भगवत गीता पर छात्रों के लिए 26 दिसंबर को एक प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जायेगा। इसके अलावा 25 दिसंबर 2020 तक विद्यार्थी गीता श्लोकोच्चारण सत्र में भी भाग लेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here