अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2020 पर ऑनलाइन होंगे सभी कार्यक्रम : यशपाल

0
19

14 दिसंबर – फरीदाबाद । कोविड-19 की परिस्थितियों के कारण इस बार अंतर्राष्ट्रीय गीता महोत्सव 2020 के सभी कार्यक्रम ऑनलाइन होंगे। इन कार्यक्रमों में ऑनलाइन ही भाग लिया जा सकता है तथा दर्शक ऑनलाइन ही यह कार्यक्रम फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब तथा ट्विटर पर केडीबीकुरुक्षेत्रा और कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के वेबसाइट पेज पर देख सकते हैं। इस बार कुछ ही कार्यक्रम ब्रह्मसरोवर, कुरुक्षेत्र में होंगे। उपायुक्त यशपाल ने बताया कि मानव जीवन में गीता का संदेश, गीता की प्रासंगिकता का बहुत बड़ा महत्व है। श्रद्धालुओं की धार्मिक भावना के दृष्टिगत इस बार अधिकतर कार्यक्रम ऑनलाइन देखे जा सकते हैं या उनमें भागीदारी की जा सकती है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक वर्ष मार्गशीर्ष महीने की शुक्ल एकादशी को भगवद्गीता की जयंती कुरुक्षेत्र में पूरी श्रद्धा के साथ मनाई जाती है। इस बार गीता जयंती महोत्सव कुरुक्षेत्र में 20 से 25 दिसंबर 2020 तक मनाया जाएगा। गीता महोत्सव का शुभारंभ 20 दिसंबर को गीता यज्ञ के साथ ब्रह्मसरोवर पर किया जाएगा।

अंतर्राष्ट्रीय गीता वेबिनार का आयोजन कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में 20 से 22 दिसंबर तक होगा, जिसमें विख्यात संत तथा लर्न स्कॉलर मानव कल्याण के लिए गीता के महत्व पर प्रकाश डालेंगे। इस वेबिनार में राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्कॉलर भाग लेंगे राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर के स्कॉलर भाग लेंग। गीता की जन्मस्थली ज्योतिसर, कुरुक्षेत्र में 20 से 25 दिसंबर तक गीता पाठ होगा। इसके अलावा ब्रह्मसरोवर पर संत सम्मेलन, गीता पर ऑनलाइन प्रतियोगिताएं, वैश्विक गीता जाप तथा ब्रह्मसरोवर कुरुक्षेत्र सहित महाभारत से संबंधित सभी 134 तीर्थ स्थलों पर दीपोत्सव का आयोजन होगा। महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय कैथल की ओर से गीता प्रवचन, श्लोक कार्यक्रम होंगे। गीता महोत्सव में गीता यज्ञ, प्रवचन व गीता जाप के लिए बड़ी संख्या में ऑनलाइन लॉग इन किया जा सकता है। दर्शकों के लिए यह कार्यक्रम फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब तथा ट्विटर पर केडीबीकुरुक्षेत्र और कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड के वेबसाइट www.internationalgitamahotsav.in और www.48koskurukshetra.com पर लाइव देख सकते हैं।

उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा। लोगों में धर्म व कर्म संबंधी शाश्वत मूल्यों को पुन: स्थापित करने के उद्देश्य से जिलास्तर पर जो कार्यक्रम होंगे, उनमें गीता जाप, गीता प्रवचन व विभिन्न प्रतियोगिताएं, सेमिनार व वेबिनार शामिल हैं। उन्होंने बताया कि कुरुक्षेत्र विकास बोर्ड की ओर से सभी प्रकार के कार्यक्रम गीता श्लोकोचारण, भाषण, संवाद, पेंटिंग व निबंध लेखन जैसी प्रतियोगिताएं ऑनलाइन होंगी। विजेताओं के चयन के लिए अलग-अलग स्तर पर कमेटियां बनाई गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here