ऑस्कर विजेता भानु अथैया का हुआ निधन

0
6

16 अक्टूबर-फरीदाबाद (अंजलि)| भारतीय सिनेमा की अग्रणी कॉस्ट्यूम डिजाइनर भारत की पहली ऑस्कर विजेता 91 वर्षीय भानु अथैया का गुरुवार को मुंबई में निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार दक्षिण मुंबई के चंदनवाड़ी श्मशान में हुआ।

आपको बता दें कि, यह जानकारी उनकी बेटी राधिका गुप्ता ने पीटीआई भाषा को दी उन्होने कहा – ” उनका आज सुबह निधन हो गया। आठ साल पहले उसके मस्तिष्क में ट्यूमर का पता चला था। पिछले तीन वर्षों से वह अपाहिज थी क्योंकि एक पक्ष (उसके शरीर का) लकवाग्रस्त था। ”।

कॉस्ट्यूम डिज़ाइनर भानु अथैया का जन्म कोल्हापुर में हुआ था। उन्होंने कभी फैशन की फॉर्मल ट्रैनिंग नहीं ली।अथैया ने फिल्मों में अपने अनुभव साझा करते हुए कहा था कि – “मेरे लिए यह (सिनेमा के लिए काम करना) खुद को व्यक्त करने और मेरी कल्पना को धूमिल करने का एक तरीका बन गया। यह इतना पूरा हो गया था कि मुझे और कुछ करने की जरूरत महसूस नहीं हुई जैसे बुटीक खोलना। शीर्ष सितारों ने अपने दम पर मुझसे संपर्क करना शुरू कर दिया और फिल्म निर्माताओं से मेरी सिफारिश की। नरगिस को मेरे डिजाइन बहुत पसंद थे। ”

अथैया ने भारतीय सिनेमा के कुछ सबसे शानदार लुक को तैयार किया। भारत का पहला ऑस्कर सम्मान – उसने रिचर्ड एटनबरो की गाँधी (1982) के लिए सर्वश्रेष्ठ कॉस्ट्यूम डिज़ाइन के लिए अकादमी पुरस्कार जीता साथ ही जॉन मोल्लो – अथैया ने 100 से अधिक फिल्मों में अपनी अमिट और विशिष्ट छाप छोड़ी।

अथैया ने फिल्मी जगत की बहुत सी हिंदी फिल्मों के लिए कॉस्टयूम डिज़ाइन की है। जिनमें- सीआईडी, प्यासा, कागज़ के फूल, वक़्त, आरज़ू, आम्रपाली, सूरज, अनीता, मिलन, रात और दिन, शिकार, गाइड, सत्यम शिवम सुंदरम, टेहरी मंज़िल, मेरा साया, इंतेक़ाम, जॉनी मेरा नाम, गीता मेरा नाम, अब्दुल्ला, कर्ज़, एक दूजे के लिए, रज़िया सुल्तान, निकाह, अग्निपथ (1990), अजूबा और 1942 – ए लव स्टोरी फॉर ए लव।

उनके कुछ बेहतरीन डिजाइनों में आम्रपाली में व्यंजयतिमाला, गाइड में वहीदा रहमान और सत्यम शिवम सुंदरम में जीनत अमान शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here