सरकारी सम्पत्तिया लूटी जा रही है और प्रशासन कुम्भकरणी नींद में सो रहा है: धर्मवीर भड़ाना

0
12

23 अक्टूबर – फरीदाबाद | राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निर्मूलन परिषद के प्रदेश अध्यक्ष और निगरानी कमेटी के प्रमुख आनंद कान्त भाटिया द्वारा फरीदाबाद समाजिक एवं धार्मिक संगठन के स्वयंभू प्रधान और भाजपा के जिला कैशियर जोगिंदर चावला पर सरकारी सील को तोड़कर ज़मीन पर कब्ज़ा होने तथा सरकारी अनुदान की राशि में घोटाले के आरोपों को राजनीति स्टंट बताते हुए आम आदमी पार्टी के नेता धर्मवीर भड़ाना ने कहा है कि यह लड़ाई सिद्धान्तों की नहीं बल्कि आपसी बंटवारे की लड़ाई है।

धर्मवीर भड़ाना ने कहा कि दोनो ही लोग भाजपा में जिम्मेदार पदों पर आसीन हैं। और इनके राजनीतिक माई-बाप तक एक है। यह दशहरा पर माहौल गर्म कर रहे हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा धन इकट्ठा किया जा सके। ज्ञात रहे कि पिछले पांच-छे सालों से दशहरे पर होने वाले ड्रामे के चलते लोगों की इस त्यौहार में रुचि खत्म हो गई है। लोगों को फिर से दशहरे की तरफ आकर्षित करने के लिए यह ड्रामा किया जा रहा है। भड़ाना ने कहा कि मैंने स्वयं आनंद कान्त भाटिया के आरोपों को सुना है। तथा प्रस्तुत दस्तावेजों की भी जानकारी हासिल की है। लगभग 20 दिन हो गए हैं शिकायत दर्ज कराएं हुए और प्रशासन के उच्चाधिकारी को इसकी जानकारी तक नहीं है। श्री भड़ाना ने प्रशन करते हुए कहा कि यदि वास्तव में ऐसी कोई शिकायत की गई है तो प्रशासन अब तक कुम्भकरणी नींद सो रहा है? क्या यही भाजपा का सुशासन है? क्या प्रशासन को चुप रहने के लिए कहा गया है या फिर प्रशासन भी इस ड्रामे का हिस्सा है?

आप नेता ने आरोप लगाया कि यह लड़ाई वास्तव में आपसी बंटवारे की लड़ाई है। समाजिक संस्थाओं से कार्यक्रमों का आयोजन कर सत्ताधारी लोग अपने चहेतों को लाखों रूपए अनुदान देते हैं और फिर यह अनुदान की राशि के एक हिस्से को आपस में बांट लेते हैं। और एक हिस्से को इन्हीं संस्थाओं के माध्यम से पार्टी के कार्यक्रमों पर खर्च करवा दिया जाता है।

आम आदमी पार्टी ने सरकार तथा प्रशासन से मांग की है कि पिछले 6 सालों में किस संस्था को सरकारी अनुदान दिया गया और कितना दिया गया। इसकी जानकारी सार्वजनिक की जाएं। अनुदान की राशि के खर्च की जांच की जाए। जिन संस्थाओं को मौटा अनुदान दिए गए हैं। उनके एकाउंटेंट जनरल से एडिट करवाया जाए। भड़ाना ने कहा कि दशहरे के अवसर पर वीभिकषण द्वारा उछाले गए इस इस पूरे एपिसोड की जानकारी जल्द ही माननीय मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उन्हें देंगे तथा इसकी उच्चस्तरीय जांच की मांग करेंगे। आप नेता धर्मवीर भड़ाना ने अपने चिर-परिचित अंदाज में चेतावनी देते हुए कहा भाजपा नेताओं पर लगाए आरोपों को प्रशासन हल्के में ना लें और समय रहते इसकी जांच में जुट जाएं अब यह लड़ाई लम्बी चलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here