प्लास्टिक मुक्त भारत की दिशा में सामाजिक संस्थाओं का सहयोग सरहनीय

0
5

13 अक्टूबर-फरीदाबाद | देश के प्रधानमंत्री की पहल पर शुरू हुए स्वच्छ भारत अभियान का गुणगान दुनिया कर रही है। इस अभियान के भी पांच साल पूरे होने जा रहे हैं। प्लास्टिक और स्वच्छता का आपस में बहुत घनिष्ट नाता है। अगर देश को स्वच्छ रखना है तो सबसे पहले हमें इस देश को प्लास्टिक मुक्त करना होगा। जिसमे देश के प्रत्येक नागरिक का अपना अपना योगदान होना बहुत जरुरी है।

इस अवसर पर सोनू नव चेतना फाउंडेशन , संभार्य फाउंडेशन और जज्बा फाउंडेशन ने आज ग्राम पंचायत चंदवाली में जूट व कपड़े के बैग वितरण कार्यक्रम किया गया। कार्यक्रम के दौरान डॉ दुर्गेश ने बताया कि 20वीं सदी का प्लास्टिक चमत्कार आज 21वीं सदी में गले की फांस बन चुका है। हमारे देश में भगवान को सर्वव्यापी मानते है लेकिन आज प्लास्टिक ने वैसी ही जगह ले ली है। हर गांव-शहर व देश-दुनिया का कोई भी ऐसा कोना नही बचा जहां प्लास्टिक ने विनाश ना कर दिया हो। जल, थल और वायु, सर्वत्र, सर्वव्यापी अविनाशी बना हुआ है।

असल में सिंगल यूज प्लास्टिक ही हमारे जी का जंजाल बना हुआ है। क्योंकि ये दुबारा किसी भी तरह उपयोग मे नहीं आता। इसकी प्रवृत्ति ऐसी है कि अगर ये पृथ्वी पर होगा तो जानवरों के पेट से लेकर नदी नालों तक को जाम कर देगा। और अगर इसे जला दिया जाये तो आसमानी संकट पैदा कर देगा। क्योंकि इसका धुंआ वायुमंडल को ही नही बल्कि ओजोन परत को भी छेड़ने से नही चूकता।

इस अवसर पर अभिषेक देशवाल ने बतया की हमें सरकार और प्रसाशन के साथ मिलके प्लास्टिक मुक्ति को लेकर कार्य करना होगा और यह हमारा कर्तव्य ही नहीं बल्कि धर्म भी है कि हम इस पहल में अपनी प्रभावी भागीदारी करें। जब तक प्लास्टिक से मुक्ति नहीं मिलेगी तब तक स्वच्छता सहित देश को दीमक की तरह चाट रही कई खामियां खत्म नहीं हो पाएंगी। प्लास्टिक के खात्मे के प्रति हमारी अन्यमनस्कता देश के चरित्र पर भी सवाल खड़ी करती है। हम अक्सर यह मानकर चलते हैं कि यह सरकार की जिम्मेदारी हैं और इसमें हमारा कोई दायित्व नहीं। आज यही हमारे संकट का सबसे बड़ा कारण भी बन चुका है। तो इस लिए हमे प्लास्टिक का कम से कम उपयोग करने पर जोर देना होगा।

इस अवसर पर चंदावली गांव की सरपंच अंजू यादव,सचिव राजेश,राहुल वर्मा, हिमांशु भट्ट, हेमंत, गौरव, नर्वदा, शेफली, आदित्य अदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here