शिक्षक शिक्षा और समाज में अलग पहचान बनाने की देते हैं प्रेरणा : राहुल

0
12

05 सितंबर-फरीदाबाद | कोरोना जैसी वैश्विक महामारी में भी शिक्षक दिवस का महत्व कम नहीं हुआ। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण स्कूल कॉलेज और कोचिंग संस्थान बंद हैं, पर सोशल मीडिया, मैसेज और फोन कॉल के जरिए छात्र अपने शिक्षकों को शिक्षक दिवस की बधाई दी। कोरोना के कारण स्कूल बंद हैं लेकिन शिष्य अपने गुरूओं से दूर नहीं है। आधुनिक युग में आनलाइन शिष्यों ने अपने गुरू को याद किया वह उनसे इस दिन की शुभकमानाएं दी। गुरु के मान-सम्मान का खास दिन शिक्षक दिवस शहर में धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन को याद किया गया। विद्यार्थियों ने अपने गुरु को उनके अमूल्य योगदान के लिए फूल, पौधे प्रस्तुत कर नमन कहा। विद्या मंदिर के पूर्व छात्र राहुल चौधरी व विपुल शर्मा ने अपने अध्यापक राम सिंह हुड्डा व अन्य अध्यापकों से मिलकर उन्हें शिक्षक दिवस की शुभकमानएं दी।

उन्होंने कहा कि चाहे वक्त कितना भी बीत जाए, लेकिन हम ना तो स्कूल-कॉलेज के दिन कभी भूल पाते हैं और ना ही वहां सीखी जाने वाली जरूरी बातें। शिक्षक ना केवल छात्रों को किताबी ज्ञान देते हैं बल्कि उन्हें नैतिक शिक्षा और समाज में अलग पहचान बनाने की प्रेरणा भी देते हैं। वहीं शिक्षक राम ङ्क्षसह हुडडा अपने छात्रों द्वारा दिए गए सम्मान से शिक्षक काफी खुश नजर आए और शिष्यों के उज्जवल भविष्य की कामना कर उन्हें आशीर्वाद दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here