पुन्हाना में सोशल डिस्टेंसिंग को दरकिनार कर रहे दुकानदार 

0
10
04 अप्रैल- पुन्हाना। दिल्ली की निजामुदीन मरकज से पुन्हाना उपमंडल के बिसरू गांव की मस्जिद में आएं तीन जमातियों की कोरोना पॉजिटिव पाएं जाने के बाद भी पुन्हाना में सब्जी विक्रेता व मेडिकल स्टोरों संचालक दुकानदारों को अपनी जान की बिल्कूल भी चिंता नहीं हैं। दुकानदार महामारी में भी पैसे कमाने के लालच में अपनी दुकानों को बिना नियमों व कानूनों की पालना के खोल कर सामान की बिक्री कर रहे हैं। उपभोक्ता भी सामान की खरीददारी करने के लिए बिना सोशल डिस्टेंसिंग के दुकानों के सामने एक दूसरे से सटे हुए खड़े रहते हैं।  प्रशासन द्वारा पुन्हाना की सब्जीमंडी व अन्य परचूने की दुकानों  को सुबह 6 बजे से 11 बजे तक केवल 5 घंटे खोलने की ही परमिशन दी हुई है।
जबकि दुकानदार अपनी मोटी रकम कमाने के चक्कर में सुबह 5 बजे ही दुकानों को खोल कर बैठ जाते हैं। दुकाने खुलते ही बाजार में सामान लेने वालो की भारी भरकम भीड़ हो जाती हैं। सब्जीमंडी में भी लोग अपने हाथों से सब्जियों को छाटकर ले रहे हैं। जिससे संक्रमण का खतरा भी ज्यादा बढ़ जाता हैं। प्रशासन के ढीके रवैये के कारण अन्य दुकाने भी सुबह के समय खुली रहती है जिसे सब्जीमंडी मार्किट में ज्यादा भीड़ इकट्ठा हो जाती है। जितने ज्यादा तेजी से देश में कोरोना के मामले बढ़ रहे है उतनी तेजी से दुकानदार भी सोशल डेसटेन्सिंग की नियमों की अवहेलना करने में लगे हुए हैं। भीड़ कम करने के लिए पुन्हाना बड़ी सब्जीमंडी में भले ही मार्किट कमेटी सचिव व ड्यूटी मजिस्ट्रेट तहसीलदार की नियुक्ति की हो लेकिन ये सभी अधिकरी कुर्सियां बिछाकर दुकानों के बाहर बैठकर बातों में लगे रहते हैं। प्रशासन द्वारा भीड़ कम करने तथा सोशल डिस्टेंसिंग की पालना कराने के नियम पुन्हाना में बिल्कुल नजर नहीं आ रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here