एचटेट पात्रता परीक्षा में इस बार बिंदी और मंगलसूत्र पर नहीं है रोक

सिक्ख अभ्यर्थियों को भी धार्मिक चिन्ह ले जाने की भी अनुमति

0
42

हथीन, (माथुर) | जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी अनिल शर्मा ने बताया कि हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा के सभी अयर्थियों को परीक्षा केंद्र पर सभी प्रकार की अनिवार्य जांच के लिए 2 घंटे 10 मिनट पहले पहुंचना होगा। वहीं परीक्षा शुरू होने से लगभग एक घंटे पहले परीक्षार्थियों का प्रवेश बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद किसी को परीक्षा केंद्र में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि एचटेट पात्रता परीक्षा का आयोजन 16 और 17 नवंबर हो होगा। 16 नवंबर को दोपहर 3 से शाम साढे 5 बजे लेवल-3 परीक्षा का आयोजन होगा। वहीं 17 नवंबर को सुबह 10 से दोपहर साढे 12 बजे तक लेवल-2 और दोपहर तीन बजे से शाम साढे 5 बजे तक लेवल-1 परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि अयर्थी इस बात का विशेष ध्यान रखें कि प्रवेश पत्र का रंगीन प्रिंट निकलवाकर आवेदन के समय प्रयोग में लाई गई रंगीन फोटो चिपकाकर राजपत्रित अधिकारी से सत्यापित करवा कर केन्द्र पर लाएं यह आवश्यक है। बिना रंगीन प्रवेश पत्र (सत्यापित) व प्रवेश पत्र के साथ छेड़छाड़ होने की अवस्था में अयर्थी का परीक्षा केंद्र पर प्रवेश निषेध होगा।

उन्होंने बताया कि अयर्थी केवल ब्लैक बॉल पेन लेकर ही परीक्षा में आएं। अयर्थी को परीक्षा केंद्र के अंदर किसी भी प्रकार के आभूषण, अन्य धातु आइटम, कैमरा, इलेक्ट्रानिक्स आइटम, घड़ी, केलकुलेटर, मोबाइल फोन, पेजर, ब्लूटूथ, ईयरफोन, पर्स, लॉग टेबल, हेल्थ बैंड, इलेक्ट्रानिक्स गैजेट्स एवं ज्योमिट्री, पैंसिल बॉक्स, प्लास्टिक पाउच इत्यादि ले जाने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाया गया है। अयर्थी यह भी नोट करें कि परीक्षा केंद्र पर इस प्रकार की वस्तु, सामान के रखने की कोई व्यवस्था नहीं होगी। वहीं महिला अयर्थियों को अंगूठी, चेन, बालियां इत्यादि ले जाने की स्वीकृति नहीं होगी। महिला अयर्थियों को मंगलसूत्र व नोज पिन पहनने, बिंदी व सिंदूर लगाने और सिख अयर्थियों को धार्मिक चिन्ह ले जाने की अनुमति होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here