एक ही परिवार के चार लोगों के हत्यारोपी मुकेश ने कुबूला जुर्म

चोरी के मकसद से दिया वारदात को अंजाम

0
294
15 नवंबर-फरीदाबाद | पुलिस आयुक्त के.के. राव फरीदाबाद के दिशा- निर्देश व राजेश कुमार एचपीएस डीसीपी क्राईम तथा अनिल यादव एचपीएस एसीपी क्राईम के नेतृत्व में कार्य करते हुए उपनिरीक्षक अनिल कुमार प्रभारी अपराध शाखा सेक्टर-48 व उनकी टीम ने अपने विशेष सूत्रों के आधार पर सेक्टर-7 फरीदाबाद में चार व्यक्तियों का सामूहिक जघन्य हत्याकांड के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
आरोपी अपने परिवार सहित डबुआ मंडी के पास झुग्गी में रहता है व सैक्टर 7 की मार्किट में जिम पर ट्रेनर है, आरोपी शादी शुदा है, परिवार में माता वा एक भाई है। मुकेश पुत्र रामपाल सिंह निवासी झुग्गी न० 47 न्यू राजिव कालोनी डबुआ मंडी फरीदाबाद, उम्र 25 साल, कक्षा 10वीं तक पढा है।
पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में आरोपी मुकेश ने बताया कि, उसपर काफी रूपये का कर्ज हो गया था, कर्ज को अदा करने के लिए उसने चोरी करने का रास्ता अपनाया व चोरी करने की नियत से ही वह डॉ. प्रवीण मेहंदीरता के मकान में घुसा तथा डॉ. द्वारा प्रतिरोध करने पर डाक्टर की ह्त्या कर दी।
इसके बाद आरोपी मुकेश के अनुसार इसने डॉ. की पत्नी सुदेश की ह्त्या कर दी व घर में चोरी करने लगा इसी दोरान घर में डाक्टर की बेटी प्रियका अपने पति सोरभ के साथ घर आ जाती है पकडे जाने के डर से आरोपी मुकेश ने इन दोनों को भी चाकू से गले पर वार करके ह्त्या कर दी।

पुलिस के अनुसार उपरोक्त आरोपी ने पहले डॉ. के मकान की रेकी की और मोका देखा की डॉ. का बेटा दर्पण मेहंदीरता रात के वक्त डयूटी पर जाता है यही मोका देखकर आरोपी मुकेश ने डाक्टर के घर में चाकू लेकर चोरी के लिए घुसा और प्रतिरोध करने पर आरोपी ने चाकू से डाक्टर की ह्त्या कर दी।

आरोपी से वारदात में प्रयोग चाकू जिससे वारदात को अंजाम दिया गया था वह बाटापुल के कबाडे से बरामद कर लिया गया हैं, आरोपी से जेवरात भी बरामद कर लिए गए हैं, जिसमें एक कडा सोना, दो अगुठी सोना, एक चैन सोना, दो टोपस सोना, दो नाक की पिन सोना, चार छल्ले चांदी के, एक घडी टाइमैक्स, एक लाकेट आर्टिफिसियल, एक मगल सूत्र आर्टिफिसियल, एक जोड़ा कानों के आर्टिफिसियल, एक अंगूठी आर्टिफिसियल, एक मोबाइल फोन अजरौंदा पुल के पास से बरामद कर लिया गया है।
वहीं पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि, आरोपी को कल अदालत में पेश कर और पुलिस रिमांड मांगा जाएगा। पुलिस रिमांड के दौरान, आरोपी से खून से सने कपड़े और जूते, जो वारदात के समय पहने हुए थे व वारदात से संबंधित अन्य साक्ष्य जुटाये जाएंगे।
पुलिस की इस टीम ने किया सराहनीय कार्य: 
एसआई अनिल कुमार, एसआई नरेश कुमार, एसआई जगवीर, एचसी दीपक, एचसी नविन, एचसी प्रवेश, सिपाही महेश कुमार, सिपाही बलजीत।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here