दलित आंदोलन में असमाजिक तत्वों के खिलाफ प्रशासन को कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए – प. सुरेन्द्र शर्मा बबली

0
100

न्यूज़ एनसीआर, 04 अप्रैल-फरीदाबाद | एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ एक जाति विशेष द्वारा 2 अप्रैल को किए गए हिंसात्मक प्रदर्शन के विरोध में अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं. सुरेन्द्र शर्मा बबली जिला उपायुक्त अतुल द्विवेदी से मिलने पहुंचे। इस मौके पर उनके साथ एल आर शर्मा, पं. कृष्णकांत, पं. ललित पाराशर, पं. शिवकुमार, पं. मोहित, पं. तेजपाल, पं. ओ पी शास्त्री, पं. कृष्ण पाराशर सहित पं. देवराज मौजूद थे। जिला उपायुक्त की अनुपस्थिति में तहसीलदार ने ज्ञापन लिया और हिंसात्मक प्रदर्शन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने का भरोसा दिया। उन्होंने एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ 2 अप्रैल को हुई घटना की कड़े शब्दों में निंदा और आशा जाहिर की, कि इस प्रकार की घटना दोबारा न हो।

पं. सुरेन्द्र बबली ने कहा कि जिस प्रकार एक विशेष समुदाय ने हिंसात्मक तरीके से अपनी बात रखने का कार्य किया है, वह बहुत निंदनीय है और अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा इसकी भरसक निंदा करता है। उन्होंने मुरैना में मारे गए निर्दोष बाबू पाठक की हत्या सहित दंगा, तोडफ़ोड़ की कार्यवाही को मानवता को शर्मसार करने वाला बताया और कहा कि ऐसे असमाजिक तत्वों के खिलाफ प्रशासन को कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए।

ज्ञापन में श्री बबली ने कहा कि भविष्य में यह प्रस्ताव भी पारित होना चाहिए कि न्यायालय के आदेशों के खिलाफ अपील का प्रावधान है, तो फिर हिंसक प्रदर्शनों के लिए कोई स्थान नहीं होना चाहिए। उन्होंने राष्ट्र में उन्नति एवं भाईचारा कायम करने की अपील की, न कि उग्र होकर राष्ट्रीय संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here