निगम कर्मचारियों का फूटा गुस्सा, निकाला विशाल जुलूस

0
120

फरीदाबाद, 7 दिसम्बर। नगर निगम प्रशासन की वायदाखिलाफी और नादिरशाही के खिलाफ व अपनी न्यायोचित मांगों व वेतन देने की मांग को लेकर लेकर निगम कर्मचारियों का गुस्सा फूटा। शहर के मुख्य सड़क पर उतर कर की जमकर नारेबाजी। बी.के. चौक से नीलम चौक तक विशाल जुलूस निकालकर किया जोरदार प्रदर्शन किया।

निगम कर्मचारी भोजपनावकाश के समय निगम मुख्यालय पर एकत्रित हुए और नगरपालिका कर्मचारी संघ के जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष गुरचरण खांड़िया की अध्यक्षता में कर्मचारियों ने की विशाल जनसभा। अब यह कर्मचारी नवम्बर माह का वेतन देने के लिए व सातवें वेतन आयोग व 14.29 प्रतिशत की बढ़ोतरी का एरियर का भुगतान करने व सामान काम सामान वेतन देने की मांग को लेकर निगम के वित नियंत्रक का कल शुक्रवार को घेराव करेंगे। प्रदर्शन में सर्व कर्मचारी संघ के जिला के वरिष्ठ नेता व हरियाणा रोडवेज यूनियन के राज्य नेता रविन्द्र नागर ने भी निगम कर्मचारियों के आंदोलन का समर्थन किया।

कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगरपालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास़्त्री ने कहा कि निगम के अधिकारियों की बर्बरता व लापरवाही का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि नगर निगम के आउटसोर्सिंग पर कार्यरत डाईवर 4 दिन से हड़ताल पर है और अधिकारियों ने आज तक डाईवर यूनियन से बात करना भी गंवारा नहीं समझा है। इससे स्पष्ट होता है कि हरियाणा सरकार के आला अधिकारी जनता के प्रति कर्मचारियों के प्रति कितने जिम्मेदार है। यदि यहीं आलम रहा तो माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी का स्मार्ट सिटी बनाने व स्वच्छ हरियाणा-स्वस्थ हरियाणा बनाने का सपना चकनाचूर हो जाएगा। संघ नेताओं ने आक्रोशित स्वर में चेतावनी देते हुए कहा कि निगम प्रशासन जब तक 43 कर्मचारियों सहित 22 टयूबवैल ऑपरेटरों, 8 गार्डों, विनोद बिल वितरक को बहाल नहीं करेंगा व 688 कर्मचारियों को निगम रोल पर रखने, दैनिक वेतन भोगी व अनुबंधित आधार पर लगे कर्मचारियों को नियमित करने, समान काम-समान वेतन देने, 14.29 प्रतिशत बढ़ोत्तरी का एरियर देने, सांतवे वेतन आयोग का एरियर देने आदि मांगों का समाधान नहीं किया जाता तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा।

कर्मचारियों को संबोधित करते हुए नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के राज्य सचिव सुनील चिंडालिया, जिला वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खांड़िया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, डाईवर यूनियन के प्रधान परसराम अधाना, वेद भडाना, रामकिशोर त्यागी, सुभाष फेंटमार, रंजीत शुक्ला ने कहा कि शहर की जनता के उपर अतिरिक्त सफाई टैक्स लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इको ग्रीन कंपनी आवासीय व कॉमर्शियल बिल्डिंगों पर 50 रूपये से 500 रूपये तक वसूला जाएगा। यह वसूली इको ग्रीन कंपनी करेगी।

शास़्त्री ने हरियाणा सरकार को दलित विरोधी बताते हुए कहा कि सरकार द्वारा दलित एवं आम जनताविरोधी करार देते हुए कहा कि सरकार को इको ग्रीन कंपनी को ठेका देते समय घरों में काम करने वाले बाल्मीकि विरादरी के लोगों के रोजगार के बारे में विचार करना चाहिए था। इको ग्रीन कंपनी द्वारा शहर का डोर टू डोर कूड़ा कलैक्शन करने का कार्य भार संभालने के बाद फरीदाबाद की दो हजार वाल्मीकि परिवार बेरोजगार हो जाएंगे। शास्त्री ने बाल्मीकि बिरादरी के सभी संस्थाओं धार्मिक-सामाजिक लोगों से अपील की है कि सभी मिलकर रोजगार बचाने की लड़ाई में शामिल हों।

आज के इस प्रदशन में अन्य के अलावा कर्मी नेता नानकचंद खैरालिया, सोमपाल झिंझोटीया, श्रीनन्द ढकोलिया, रघुवीर चौटाला, देवेन्द्र मंझावली, बल्लू चिंण्डालिया, प्रेमपाल, सुमित चिण्डालिया, अशोक, संजय, राजू मंढोतिया, कृष्ण चिण्डालिया, महेन्द्र कुड़िया, धर्म सिंह मुल्ला, राजबीर चिण्डालिया, विरेन्द्र भंडारी, महिला नेता माया, शंकुतला, कमलेश, ममता, बृजवती सहित सैकड़ों कर्मचारी शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here