चीन को उसी की भाषा में जवाब देने का समय आ चुका है : कृष्ण अत्री

0
15

18 जून-फरीदाबाद | भारत-चीन सीमा पर चीन के द्वारा कायराना रूप से भारतीय सेना के वीर जवानों पर किये गए हमले के विरोध में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने बीके चौक पर चीन के राष्ट्रपति का पुतला दहन किया। इस प्रदर्शन का नेतृत्व एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने किया। इस दौरान एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने चीन के राष्ट्रपति के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

इस दौरान एनएसयूआई हरियाणा के प्रदेश महासचिव कृष्ण अत्री ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि 15 जून की रात  को भारत-चीन सीमा पर चीनी सैनिकों द्वारा कायराना हरकत करते हुए भारतीय सैनिकों पर धोखे से हमला कर दिया जिसमें हमारे देश के 20 सैनिक शहीद हो गए। शहीद हुए सैनिकों के परिवारों के प्रति एनएसयूआई अपनी संवेदना व्यक्त करती है। कृष्ण अत्री ने कहा कि पहले चीन ने अपनी नीचता का परिचय देते हुए पूरी दुनिया में कोरोना महामारी को फैलाया और अब अपनी कायरता का परिचय देते हुए भारतीय सैनिकों पर धोखे से हमला किया है। ऐसे में चीन को उसी की भाषा में समझाने का समय आ चुका है।

कृष्ण अत्री ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आखिर कब तक हमारे देश के वीर जवानों को ऐसे ही धोखे से मारा जाता रहेगा। मोदी जी ने सेना के जवानों को लेकर चुनाव के समय में बहुत बड़ी बड़ी बातें की थी लेकिन आज तक भी किसी एक पर भी अमल नही किया गया है। मोदी जी ने इस हमले के बाद पूरी तरह से चुप्पी साधी हुई है अभी तक भी कोई संतोषजनक और ठोस कार्यवाही के आदेश नही दिये गए है। पुलवामा हमले के बाद ये दूसरा हमला है जिसमें हमारे देश की सीमा के अंदर हमारी ही सेना के जवानों पर हमला हुआ है। मोदी जी को इस समय ही नहीं बल्कि हमेशा के लिए सेना को आदेश दे देना चाहिए कि जब भी कोई हमारी सेना की तरफ आँख भी उठाये तो उसके खिलाफ तुरंत कार्यवाही करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here