लॉकडाउन के दौरान बैंकों के बाहर पैसे निकलने के लिए लगी लोगों की लंबी कतारें

0
6

12 मई- हथीन/माथुर। हथीन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा महिलाओं के जन धन खातों में जमा कराए गए 500 रूपये निकलवाने के लिए लगी हुई हैं। हथीन के भारतीय स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बडोदा, सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक, ओरियन्टल बैंक ऑफ कॉमर्स एवं केनरा आदि बैंकों के बाहर मोदी द्वारा जमा कराए गए 500-500 रूपये निकलवाने की होड में सोशल डिस्टेंस का भी पालन नहीं किया जा रहा है।

बैंकों के बाहर लाईन में लगे उपभोक्ताओं को देखकर ऐसा लगता है कि इन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण का जरा भी भय नहीं है, बल्कि इन्हें तो 500 रूपये से ज्यादा लगाव है। यहीं कारण है कि बैंकों के बाहर लगी लाईनों में उपभोक्ता सोशल डिस्टेंस का पालन बिल्कुल नहीं कर रहे हैं। इतना ही नहीं बल्कि अधिकांश ने फेस मास्क भी नहीं लगाए हुए हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि बैंक प्रबंधकों ने अभी तक उपभोक्ताओं की इस भीड पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दिया है। यदि ध्यान दिया होता तो सोशल डिस्टेंस का पालन अवश्य कराते।

बैंकों में जो यह 500-500 रूपये लेने के लिए उमड रही है वह अफवाहों के चलते उमड रही है। लोगों में अफवाह फैला रखी है कि मोदी ने 500 रूपये खाते में डलवाएं हैं, उन्हें वापिस कोरोना रिलिफ फंड के नाम पर सरकारी खजाने में जमा करा लिया जाएगा। इसलिए 500 रूपये निकलवाने की जल्दवाजी व लालच में यह भीड़ उमड रही है। दूसरी तरफ वहीं पहली बार हथीन में बीडी खरीदने वालों की जबरदस्त लंबी लाईन लगी। क्योंकि लॉकडाउन के चलते बीडी की सप्लाई बंद थी और अधिकांश दुकानदारों ने 15 रूपये के बीडी के बंडल को ब्लैक में रेट बढाते बढाते 80 रूपये तक में बेचा।

502 बीडी का जो पूडा पहले 288 रूपये का और साथ में 3 छोटे बंडल आते थे वह पूडा साढे 700 रूपये तक ब्लैक में बिका। हालात तो यहां तक बने कि उक्त बीडी अधिकांश दुकानों से ही गायब हो गई। अब जबकि बीडी की सप्लाई आने पर एजैंसी संचालक ने दुकानदारों को बीडी सप्लाई की तो अधिकांश दुकानदारों ने रीटेल में ग्राहकों को बीडी न बेचकर, ब्लैक में ही अधर के अधर अन्य दुकानदारों को बेच दी। जिसकी भनक लगने पर एजैंसी संचालक ने बीडी पीने वालों की सुविधा के लिए रीटेल में बीडी के पूडा जब बेचने शुरू किए तो ग्राहकों की ऐसी भीड उमडी कि इतनी भीड तो किसी भी बैंक के बाहर नहीं थी।

भीड को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को भी आना पडा और जब भीड पुलिस के नियंत्रण से बाहर होती दिखाई दी तो पुलिस ने एजैंसी संचालक से बीडी बेचने के लिए मना कर दिया। इसके बाद भी काफी देर तक वहां लोगों का जमावडा लगा रहा। जिससे एक तरफ जहां खुलेआम लॉकडाउन का उल्लंघन हुआ, वहीं सोशल डिस्टेंस का भी पालन नहीं हुआ। जिससे कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की स भावना से इंकार नहीं किया जा सकता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here