गांव अंधरौला स्थित आयुषमान हैल्थ वेलनेस सैंटर पर लगा ताला

0
4

26 मार्च- हथीन (माथुर)। एक ओर जहां कोरोना वायरस के संक्रमण खतरे के चलते पूरी हरियाणा सरकार हाई अलर्ट पर है वहीं आयुष एवं स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से खोले गए हेल्थ वेलनैस सेंटरों में तैनात कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर गायब हैं। ऐसा ही नजारा देख हथीन के सीनियर मेडिकल ऑफिसर मनीष गर्ग आश्चर्य में पड गए। डॉक्टर गर्ग ग्रामीण इलाकों में कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए गांवों का दौरा कर रहे हैं। गुरुवार को वे गांव अंधरोला पहुंचे तो सेन्टर पर ताला जडा मिला। इस सेंंटर सरकार ने कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर मोनिका एवं अन्य स्टाफ तैनात किया हुआ है। जिन पर प्रति माह लाखों रुपये खर्च किए जा रहे हैं।ग्रामीणों ने सीनियर मैडीकल ऑफिसर मनीष गर्ग को बताया कि प्रति दिन यही स्थिति रहती है।

सीनियर मेडिकल ऑफिसर मनीष गर्ग उक्त सेन्टर पर दोपहर एक बजकर बीस मिनट पर पहुंचे। वहीं गहलब ग्राम के वेलनैस सेन्टर पर मात्र एक बहु उद्देश्यीय मेल कार्यकर्ता मिला। कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर डॉक्टर नीलम और अन्य स्टाफ गैर हाजिर मिला। ऐसे समय में जब संपूर्ण विश्व में स्वास्थ्य आपातकाल की स्थिति बनी हुई है, कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर जैसे जिम्मेदारी की पद पर सेवारत स्टाफ के लोग गैर हाजिर मिले, यह गंभीर चिंता का विषय है। सीनियर मेडिकल ऑफिसर मनीष गर्ग ने बन्द वेलनैस सेन्टर की तालाबंदी के फोटो किए और मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ब्रह्मदीप सिंधु को सूचना दी है। विभाग के निदेशक के पास भी रिपोर्ट भेजी गई है। डॉक्टर गर्ग का कहना है कि यह घोर अनुशासन हीनता का मामला है। कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here