उपायुक्त यशपाल ने जिला स्तरीय अधिकारियों को निश्चित समय पर कार्यों को पूरा करने का दिया आदेश

0
18

10 फरवरी- फरीदाबाद। उपायुक्त यशपाल ने कहा कि जिला स्तर पर सभी अधिकारी निश्चित समय अवधि में अपने विभाग के लक्ष्यों को पूरा करें। जनहित के कार्यों में तेजी लाएं तथा जनता की समस्याओं को नजरंदाज न करें, बल्कि उन पर सकारात्मक कार्यवाही करते हुए उसे परिणाम तक पहुंचाएं, ताकि जनता को सरकारी योजनाओं व कार्यों का उचित व समय पर लाभ मिल सके। शहर की साफ-सफाई जैसे कार्यों पर संबंधित विभाग गंभीरता से कार्यवाही करें।

> उपायुक्त सोमवार को लघु सचिवालय के सभागार में सभी विभागों के अधिकारियों की मासिक बैठक में विभागवाइज विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री परिवार समृद्धि योजना के तहत सभी लोगों को अपना पंजीकरण करवा लेना चाहिए। भविष्य में सरकारी योजनाओं व सेवाओं का उन्हीं व्यक्तियों को लाभ मिलेगा, जिनके पास परिवार समृद्धि योजना का पहचान-पत्र होगा। इसी प्रकार बीपीएल सर्वे भी एक निरंतर प्रक्रिया है, इस पर प्रत्येक विभाग समय पर कार्यवाही करते हुए रिपोर्ट सौंपे। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देश दिए कि उनके क्षेत्र से संबंधित अटल सेवा केंद्रों, अंत्योदय भवनों व सरल केंद्रों की कार्यप्रणाली ठीक होनी चाहिए तथा उसका बेसिक इंस्फ्रास्ट्रक्चर भी पूरा किया जाए।

> इन केंद्रों पर योजनाओं व सेवाओं का लाभ जनता को तय समय सीमा में भी दिया जाए, इसमें वेटिंग पीरियड ज्यादा नहीं लगना चाहिए। इसके लिए स्टाफ को उचित प्रशिक्षण दिया जाए, ताकि जिले की रैकिंक भी अच्छी रहे। सरल केंद्र से संबंधित कार्यों को कोई भी विभाग अपने कार्यालय में नहीं करेगा, इसके लिए आवदेन सरल केंद्र के माध्यम से ही प्राप्त किए जाएं। सीएम विंडो से संबंधित शिकायतों को भी जल्द निपटाया जाए। सीएम घोषणाओं पर त्वरित कार्यवाही की जाए तथा किसी स्तर पर समस्या है तो उसका समाधान करवाया जाए। कोर्ट केस से संबंधित मामलों का पूरा विवरण लीगल सेल पर अपडेट रखा जाए। उन्होंने कहा कि एसेट्स मैनेजमेंट सेल के माध्यम से सभी विभागों को जिला में अपने विभाग की जमीन का पूरा विवरण देना है, अगर उस पर कोई अतिक्रमण है तो उसे भी जल्द हटवाने की जिम्मेवारी संबंधित विभाग की होगी।

> उन्होंने कहा कि जिला में सरकारी गाड़ियों की रिपेयर का कार्य पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल विंग के माध्यम से करवाया जाए। कार्यालयों में साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। इसी प्रकार ट्रकों आदि में खुले में डस्ट नहीं जानी चाहिए। इसे कवर करना जरूरी है, लेकिन अगर कोई इसकी उल्लंघना करता है तो उसका चालान किया जाए। सड़कों पर धूल या मिट्टी नहीं होनी चाहिए तथा इसकी निरंतर सफाई होनी चाहिए। शहर में कहीं भी ओपन डंपिंग नहीं होनी चाहिए। ठोस व तरल कचरा का उचित प्रबंधन जरूरी है तथा डोर-टू-डोर कलैक्शन के तहत प्रत्येक घर कवर होना चाहिए। डंपिंग साइट चिन्हित कर ली जाएं तथा वहां से नियमित उठान सुनिश्चित किया जाए। बायो-वेस्ट, ई-वेस्ट, सी एंड डी वेस्ट आदि के लिए उचित कार्यवाही अमल में लाई जाए। अतिक्रमण के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाए तथा उसका लीगल स्टेट्स अवश्य चेक किया जाए। अनाधिकृत कालोनियों में रजिस्ट्री न की जाएं।

> पुलिस विभाग द्वारा शहर में शांति व कानून व्यवस्था सुदृढ़ की जाए तथा ट्रैफिक मैनेजमेंट को और मजबूत बनाया जाए। पार्किंग जैसी समस्या का हल निकाला जाए। उन्होंने कहा कि जनस्वास्थ्य विभाग की ओर से जल जीवन मिशन के तहत सर्वे का कार्य जल्द पूरा करवाया जाए। मार्केटिंग विभाग की मेरी फसल-मेरा ब्यौरा योजना के तहत किसानों के पंजीकरण अवश्य करवाए जाएं। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त राजकुमार सिंह, एसडीएम बल्लबगढ़ त्रिलोकचंद, एसडीएम फरीदाबाद अमित कुमार, एसडीएम बड़खल पंकज सेतिया, नगराधीश बलिना सहित सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
फोटो सहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here