मानव रचना में तीन दिवसीय आंत्रप्रन्योरशिप अवेयरनेस कैंप

0
13

18 फ़रवरी- फरीदाबाद। मानव रचना में तीन दिवसीय आंत्रप्रन्योरशिप अवेयरनेस कैंप का आयोजन किया जा रहा है। मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज के युवा उम्मीदवारों के बीच उद्यमिता विकास (एक वैकल्पिक कैरियर विकल्प के रूप में) के बारे में जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से  NewGen IEDC ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी पृष्ठभूमि से संबंधित छात्रों के लिए 3 दिवसीय उद्यमिता जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया है। इस तीन दिवसीय कैंप में छात्रों को एक्सपर्ट्स की ओर से आंत्रप्रन्योरशिप के लिए टिप्स दिए जाएंगे। इस शिविर को DII-NIMAT योजना के तहत EDII अहमदाबाद द्वारा विधिवत प्रायोजित किया गया था जिसमें MRIIRS के लगभग 100 छात्रों ने भाग लिया।

पहला सेशन एंजल इन्वेस्टर्स इंडिया के सदस्य विशाल लालानी ने संबोधित किया, जिसमें उन्होंने छात्रों के साथ इंडिकेशन इंस्ट्रूमेंट्स लिमिटेड की यात्रा को साझा किया। उनका सत्र मुख्य रूप से कंपनी के विकास के पीछे महत्वपूर्ण मंत्रों पर केंद्रित था। इस दौरान उन्होंने कहा कि नकदी प्रवाह वर्तमान परिवेश में स्टार्टअप्स की विफलता का सबसे बड़ा कारण है। दूसरा सेशन में MRIIRS के फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज के प्रोफेसर डॉ अनिल सेठ , तीसरा सेशन फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज के प्रोफेसर डॉ. अमिल सरीन और अंतिम सत्र में एसबीआई के रिटायर्ड डीजीएम उमेश गोयल ने हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने विभिन्न फंड जुटाने वाले संस्थानों और कोई अपने स्टार्टअप के लिए फंड कैसे जुटा सकता है इसके बारे में चर्चा की।

कार्यक्रम में मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा, एफईटी के डीन डॉ. हरीश राय, डॉ. मोनिका गोयल, डॉ. राजेंद्र अरोड़ा समेत फैकल्टी मेंबर्स और स्टूडेंट्स मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here