मिशन जागृति का लक्ष्य: एक लाख लोगों को यौन शोषण के प्रति संवेदनशील बनाना

0
6
10 जनवरी फरीदाबाद | शहर की सामाजिक संस्था मिशन जागृति के संस्थापक प्रवेश मलिक के आह्वान पर बिटिया- संवेदना के लिए एक मुहिम’ नाम से एक अभियान आरंभ किया गया। जिसका उद्देश्य समाज में फैली यौन- उत्पीड़न की घटनाओं पर रोकथाम लगाना है। इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए एक घोषणा-पत्र का निर्माण भी किया गया, जिससे ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को इस अभियान से जोड़कर, लोगों में इस बात का प्रसार किया जाए कि समाज की हर आयु वर्ग की बिटिया न केवल एक पिता के लिए जिम्मेदारी है बल्कि पूरे समाज की ज़िम्मेदारी है। इसी के लिए मिशन जागृति ने 100000 लोगों को संवेदनशील बनाने के लिए उनसे बात करके इस मुद्दे पर साथ देने के लिए एक किताब का विमोचन बड़खल विधानसभा की एमएलए सीमा त्रिखा के हाथों करवाया।
इस अवसर पर अधिवक्ता राजेश खटाना, सतीश फ़ागना, डॉक्टर एमपी सिंह, अवधेश ओझा के साथ पूरी टीम मिशन जागृति नए नए साल 2020 में 100000 लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य रखा। इस अवसर पर सीमा त्रिखा ने कहा समाज के अंदर वीडियो के अंदर जो डर बैठ गया है उसको मिशन जागृति की टीम अपने इस बिटिया प्रोजेक्ट के माध्यम से दूर करने का बहुत बढ़िया काम कर रही है। फरीदाबाद शहर के प्रत्येक नागरिक को संस्थानों को संगठनों को मिशन जागृति के इस बिटिया प्रोजेक्ट में साथ देना चाहिए ताकि समाज के अंदर एक सकारात्मकता का माहौल बने और डर का माहौल बिल्कुल खत्म हो।
देश में बढ़ती दुष्कर्म की घटनाओं के खिलाफ सामाजिक संस्था मिशन जागृति ने ओपन एयर थिएटर में बिटिया बढ़िया संवेदना के लिए एक मुहिम प्रोग्राम किया| बिटिया प्रोजेक्ट के डायरेक्टर विपिन शर्मा ने कहा जब तक लोग जागेंगे नहीं तब तक ऐसे दुष्कर्म को रोकना बहुत मुश्किल है ऐसे दुष्कर्मो  को रोकने के लिए बेटियों के अंदर डर से मुक्ति के लिए लोगों की संवेदना को जगाना पड़ेगा बिटिया प्रोजेक्ट के संयोजक डॉ हेमंत अत्रि  ने कहा बेटियों की सुरक्षा हमारी प्रथम जिम्मेदारी है, सरकार को कुछ कठिन नियम बनाने होंगे ऐसे दुष्कर्मो रोकने के लिए कुछ कड़े नियम बनाने पड़ेंगे।
मिशन जागृति के स्वयंसेवक फरीदाबाद शहर के अलग-अलग स्थानों पर जाकर लोगों से घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर लेकर उस बात की पुष्टि की, कि वे सभी लोग न तो स्वयं इस प्रकार का कोई कार्य करेंगे जिससे किसी नारी के सम्मान को कोई ठेंस पहुंचे न ही वे किसी ऐसी घटना के प्रति असंवेदनशील होंगे जिसमें किसी महिला के सुरक्षा के अधिकार का हनन हो।
संस्था के संस्थापक प्रवेश मलिक ने कहा पिछले 12 सालों से समाजिक कार्यक्रम कर रही है इस मौके पर मिशन जागृति की पूरी टीम सुनीता, संगीता चांदनी, सुष्मिता, मोहिनी, सोनल, विकास कश्यप, विकास चौधरी, गुरनाम, अभिषेक, महेश आरिया, दिनेश, उमेश कुंडू, सुमित रावत, संगीता रावत भारद्वाज, परवीन शर्मा, मौजूद रहे, शहर की सभी समाजिक संस्था इस मौके पर मौजूद रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here