फरीदाबाद में कराधान की टीम ने दुकानदारों से वसूला संपत्ति कर

0
5

10 जनवरी फरीदाबाद। फरीदाबाद नगर निगम के आयुक्त डा. यश गर्ग ने निगम के कराधान व योजना शाखा के अधिकारियों को बकाया करों की वसूली के लिए गंभीर प्रयास शुरू करने के कड़े निर्देश दिए है जिससे कि न केवल निगम को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाया जा सकें बल्कि शहरवासियों को मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने में भी निगम को वित्तीय कठिनाईयों का सामना न करना पड़े। निग्मायुक्त ने कराधान विभाग के अधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कहीं।

निग्मायुक्त की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में निगम के संयुक्त आयुक्त प्रशांत अटकान व विरेन्द्र चैधरी, निगम के क्षेत्रिय एवं कर अधिकारी (मु0) रतन लाल रोहिल्ला, क्षेत्रिय एवं कर अधिकारी प्रेमप्रकाश, विजय सिंह, अनिल रखेजा, सुनीता कुमारी, एल.एल.ओ. सृष्टि बब्बर व विकास कन्हैया उपस्थित थे।

 निग्मायुक्त ने बैठक के दौरान बकाया संपत्तिकर की वसूूली की समीक्षा करते हुए इस बात पर खेद प्रकट किया कि एक ओर तो निगम विकट आर्थिक समस्या का सामना कर रहा है वहीं दूसरी ओर केवल संपत्तिकर बकायेदारों की ओर लगभग 228 करोड़ रूपये की राशि बकाया है, जिसके परिणामस्वरूप निगम को न केवल शहरवासियों को मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने में कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है, बल्कि अपने कर्मचारियों को वेतन का भुगतान करने में भी समस्या उत्पन्न हो रही है।

उन्होंने कहा कि अब इस स्थिति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने बैठक में उपस्थित निगम के सभी संयुक्त आयुक्तों और क्षेत्रिय एवं कर अधिकारियों को संपत्तिकर की बकाया राशि को वसूल करने के लिए बकायादारों की संपत्ति को सील व कुर्क करने के कड़े निर्देश दिए है। उन्होंने आगामी 31 जनवरी तक 27 करोड़ रूपये का बकाया संपत्तिकर वसूल करने का लक्ष्य भी निर्धारित किया है, जिसमें से एनआईटी जोन-1 के लिए 3 करोड़ रूपये, एनआईटी जोन-2 के लिए 4 करोड़, एनआईटी जोन-3 के लिए 4 करोड़ रूपये, फरीदाबाद ओल्ड प्रथम व द्वितीय के लिए 5-5 करोड़ रूपये, बल्लभगढ़ प्रथम व द्वितीय के लिए 3-3 करोड़ रूपये के टारगेट निर्धारित किए है।

कुल 27 करोड़ के निर्धारित किए गए इस टारगेट में से 8.50 करोड़ रूपये की वसूली कराधान विभाग के द्वारा आगामी 17 जनवरी से पूर्व-पूर्व आवश्यक तौर से की जानी होगी। डा. यश गर्ग ने शहरवासियों से यह भी अपील की है कि वे आगामी 31 जनवरी तक अपने बकाया संपत्तिकर की राशि को जमा करवाकर के सरकार की ब्याज माफी योजना का लाभ उठायें। इसके इलावा वर्तमान वित्तीय वर्ष 2019-20 का संपत्तिकर जमा करवाने पर 10 प्रतिशत की छूट भी दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here