दक्ष फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम “ख्याल अपने बुजुर्गों का “

0
25
06 January Faridabad | आज दक्ष फाउंडेशन द्वारा अपने आगामी कार्यक्रम “ख्याल अपने बुजुर्गों का ” के लिए किसान भवन सेक्टर- 16 प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया गया। दक्ष फाउंडेशन के एडवाइजरी बोर्ड के सदस्य श्री अजय गर्ग ने पत्रकार सम्मेलन में आए हुए सभी पत्रकार बंधुओं का धन्यवाद करके कार्यक्रम के बारे विस्तार से बताया कि हमें अपने बुजुर्गों का ध्यान रखने की आवश्यकता है, क्योंकि बुजुर्ग अकेला महसूस करने लगे। पहले समाज में संयुक्त परिवार होते थे, अब एकाकी परिवार बढ़ रहे हैं। जिस कारण से बुजुर्ग अपना एकाकी जीवन व्यतीत करने पर मजबूर हो रहे हैं।
इसी सामाजिक समस्या को ध्यान में रखते हुए दक्ष फाउंडेशन ने “ख्याल अपने बुजुर्गों का” के नाम से यह पहल शुरू की है। हर वर्ष एक कार्यक्रम इस थीम के साथ आयोजित किया जाता है। यह चौथा वर्ष है जो यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस वर्ष कार्यक्रम में दिनांक 12 जनवरी को ‘राष्ट्रीय युवा दिवस’ के अवसर पर इंडोर स्टेडियम, खेल परिसर, सेक्टर 12 में सुबह 9:30 से 12:00 बजे तक एक चित्रकला प्रतियोगिता ‘आशीर्वाद’ शीर्षक से आयोजित की जाएगी। जिसमें एक ही शर्त रखी गई है कि इस प्रतियोगिता में प्रतिभागी अपने दादा-दादी या नाना-नानी के साथ हिस्सा लेंगे।
इसके अलावा वहां पर बुजुर्गों के लिए आर्टिमिस हस्पताल के सहयोग से हेल्थ चेकअप कैंप का आयोजन किया गया है। जिसमें अलग-अलग विशेषज्ञों द्वारा बुजुर्गों की हेल्थ का चेकअप किया जाएगा। मानव रचना युनिवर्सिटी के सहयोग से फिजियोथेरेपी कैंप व डेंटल चेकअप किया जाएगा। भाटिया सेवक समाज (तारा नेत्रालय) के सहयोग से आंखों का चेकअप होगा। विकास कुमार सचिव जिला रेडक्रॉस सोसायटी ने बताया कि इस वर्ष इंडियन रेड क्रॉस के 100 वर्ष पूरे होने के अवसर पर जिला रेडक्रॉस सोसायटी  द्वारा वरिष्ठ नागरिकों के लिए आर्टिफिशियल लिंब्स के रजिस्ट्रेशन करके बाद में वितरित किए जाएंगे। उन्होंने दक्ष फाउंडेशन की इस पहल की सराहना की और कहा कि वर्तमान में इस तरह की पहल आवश्यकता है क्योंकि देश में वरिष्ठ नागरिकों की संख्या बढ़ रही है।
जयपाल सिंह सांगवान ने बताया कि दिनांक 14 जनवरी को किसान भवन जाट समाज के सहयोग से “ख्याल अपने बुजुर्गों का” कार्यक्रम की अगली कड़ी में चित्रकला प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कार एवं 11 अलग-2 श्रेणियों  में ऐसे वरिष्ठ नागरिक (आयु 65 वर्ष से अधिक, जिन्होंने अपने जीवन काल में समाज के उत्थान के लिए कार्य किए हैं ) को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड दिए जाएंगे। एस आर तेवतिया ने बताया कि हिंदू कल्चर के अनुसार मकर सक्रांति का दिन बुजुर्गों के लिए होता है ऐसी मान्यता है कि इस दिन नई नवेली दुल्हन अपने बुजुर्गों को मान सम्मान के लिए कुछ उपहार भेंट करते हैं तो इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए इस दिन उपस्थित सभी बुजुर्गों को उपहार भेंट करके सम्मानित भी किया जाएगा। एचएस मलिक जनरल सेक्रेट्री जाट समाज एवं सदस्य वरिष्ठ नागरिक सर्वोच्च कमेटी, फरीदाबाद ने बताया कि कार्यक्रम में वरिष्ठ नागरिकों के लिए रंगारंग कल्चरल प्रोग्राम के साथ-साथ दोपहर के भोजन की व्यवस्था की गई है।  सभी ने वरिष्ठ नागरिकों से अनुरोध भी किया कि वह दिनांक 12 जनवरी को ड्राइंग प्रतियोगिता में अपने पोता-पोती, नाता-नाती के साथ भाग ले।
  • दिनांक 14 जनवरी को लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड के लिए अपने आप को नामित भी करें। पत्रकार सम्मेलन के दौरान प्रवेश कंसल निदेशक दक्ष फाउंडेशन, विकास कुमार, सचिव जिला रेडक्रॉस सोसायटी, जयपाल सिंह सांगवान (रिटा० आईएएस)  प्रधान जाट समाज,  एचएस मलिक जनरल सेक्रेट्री जाट समाज एवं सदस्य वरिष्ठ नागरिक सर्वोच्च कमेटी, फरीदाबाद, अंकुर शरण, अजय श्रीवास्तव, एसएस दहिया, रमेश चौधरी, एसआर तेवतिया आदि मुख्य रूप से मौजूद थे।
ड्राइंग प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए http://dakshfoundation.com/drawing-competition/ लिंक पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना है।
लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड के लिए भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन http://dakshfoundation.com/lifetime-achievement-award/nomination/ लिंक पर पर जाकर ऑनलाइन नोमिनेशन करना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here