महावतपुर गांव में स्वर्ण जाती के युवाओं को गलत फंसाया जा रहा है : दीपक गौड़

0
1132

04 दिसंबर-फरीदाबाद | आरक्षण विरोधी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक दीपक गौड़ ने कहा कि गांव ग्रेटर फरीदाबाद के गांव महावतपुर में हुए विवाद में पुलिस दलित संगठनों के दवाब में काम कर रही है और जानबूझकर गांव के छह युवाओं को एससी-एसटी एक्ट में फंसाया गया। इस घटना की जानकारी मिलने के बाद दीपक गौड आज गांव महावतपुर में पीडित स्वर्ण परिवार व गांव की सरदारी से मिलने पहुंचे। गांव के लोगों ने बताया कि गांव में किसी की बाईपास सर्जरी हुई थी, जिसको लेकर सिर्फ डीजे की आवाज कम करने की बात हुई थी।

लेकिन दूसरी पार्टी वाले हरिजन एक्ट के नाजायज इस्तेमाल करते हुए स्वर्ण जाती के युवाओं पर झूठे मुकदमें दर्ज करा दिए। जिसमें एक युवा संदीप को गिरफ्तार करके नीमका जेल भेजा गया है।

गौरतलब है कि दीपक गौड एससी-एसटी एक्ट संसोधन के विरोध में खुद दो महीने तिहाड जेल में काट कर आए और अब दिल्ली हाई कोर्ट से जमानत पर चल रहे हैं और फरीदाबाद लोकसभा से दो बार सांसद का चुनाव भी लड चुके हैं। दीपक गौड़ ने कहा है कि कुछ जातिवादी संगठन स्वर्णों के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। एससी-एसटी एक्ट को रोजगार का धंधा बना लिया है, इसकी आड़ में ब्लैकमेलिंग का कारोबार तक हो रहा है, लेकिन वोट बैंक के लालच में सरकार इस पर कोई संज्ञान नहीं ले रही हैं। पुलिस की कार्यवाही देखकर लग रहा है जैसे कानून सिर्फ जाति विशेष के लोगों के लिए बने हैं। पूरे गांव की बात नहीं सुनी जा रही न कोई सच्चाई जानने की कोशिश करता। जिस तरफ उंगली उठ जाती है, पुलिस की कार्यवाही शुरू हो जाती है।

दीपक गौड़ के साथ आज क्षत्रिय महासभा के प्रदेष उपाध्यक्ष ठाकुर दीपू चौहान, परशुराम आर्मी से मनीष कौषिक, भारत भूषण अत्री संजय सहाय व वेदी प्रधान सहित सर्वण समाज के कई संगठनों के मौजिज लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here