अग्रवाल वैश्य समाज ने लगाया विशाल रक्तदान शिविर

0
17

22 दिसम्बर-फरीदाबाद | रक्तदान से किसी को नवजीवन देकर जो आत्मिक आनन्द मिलता है उसका न तो कोई मूल्य आँका जा सकता है न ही उसे शब्दों में व्यक्त किया जा सकता है। ये उद्गार आज अग्रवाल वैश्य समाज के प्रदेश अध्यक्ष अशोक बुवानीवाला ने एनआईटी स्थित स्थानीय डबुआ-जवाहर कॉलोनी में आयोजित विशाल रक्तदान शिविर के दौरान रक्तदानियों का उत्साहवर्धन करते हुए कही। समाज के प्रदेश संगठन मंत्री केदारनाथ अग्रवाल के संयोजन में आयोजित इस रक्तदान शिविर में अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन के राष्ट्रीय चेयरमैन प्रदीप मित्तल सहित समाज के अनेक नेताओ ने की भागीदारी की। शिविर में कड़ती ठंड के बावजूद रक्तदान देने के लिए उमड़ें लोगों ने उत्साहपूर्वक रक्तदान किया। इस मौके पर बुवानीवाला ने कहा कि महाराजा अग्रसेन और महात्मा गांधी के दिखाऐं मार्ग का अनुशरण करने वाला वैश्य समाज समाजसेवा में हमेशा अग्रणी रहा है।

उन्होंने कहा कि जब से दुनिया बनी है तबसे दान की प्रथा चली आ रही है। अगर कोई जरूरतमंद है और हम उसे कोई उसकी उपयोग में लाई जाने वाली चीज को दे देतो उसे दान कहा गया है और ऐसा ही एक जीवनदायी दान है रक्तदान। जो रक्तदान करता है वह किसी को रक्तदान नहीं अपितु जीवन दान करता है। इसलिए रक्तदान को वास्तव में सबसे बड़ा दान माना जा सकता है।

बुवानीवाला ने कहा कि रक्तदान से हमें पुण्य के साथ-साथ दुआऐं भी मिलती वहीं दुआऐं रक्तदान रूपी में प्रसाद में हम ग्रहण करते है। इस मौके पर बुवानीवाला ने समाज के लोगों से समाजसेवा के साथ-साथ राजनीति में भी आगे बढऩे के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि समाज जब सभी क्षेत्रों में आगे है तो राजनीति में भी उसे आगे आना चाहिए क्योंकि राजनीति समाजसेवा करने का सबसे बड़ा मंच है जहां पर हम देश व देशवासियों की सेवा के साथ-साथ राष्ट्र की उन्नती में भी भागीदारी बनते हैं। इस मौके पर शिविर संयोजक केदारनाथ अग्रवाल, विशेष सहयोगी प्रियलाल गोयल, अमरचंद मंगला, प्रवीण गर्ग, बलराम गर्ग, निकुंज गर्ग सहित समाज के अनेक गणमान्य व्यक्ति एवं रक्तदानी उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here