अब फरीदाबाद पुलिस 24×7 आपकी सुरक्षा में

तीन शिफ्टों में ड्यूटी करेंगे पुलिसकर्मी

0
98
न्यूज़ एनसीआर, 12 सितंबर-फरीदाबाद | नई व्यवस्था के तहत 48 पीसीआर, 48 राईडर और 48 नाका सुरक्षा व कानून व्यवस्था बनाऐ रखने के लिए 24 घण्टे अलर्ट रहेगी। नई सुरक्षा व्यवस्था में करीब 850 कर्मचारी तैनात होंगे। पीसीआर राईडर व नाकों पर तैनात कर्मचारियों की 8 घण्टे की शिफ्ट ड्यूटी होगी। सही से ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मचारियों को ईनाम दिया जाएगा।
पुलिस लाईन सैक्टर 30 में पुलिस आयुक्त के.के. राव पुलिस आयुक्त महोदय ने सुरक्षा की नई व्यवस्था लागू कर पीसीआर, राईडर और नाका पर तैनात कर्मचारियों को ड्यूटी के बारे में आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि, आप लोगों की 8 घण्टे की शिफ्ट ड्यूटी लगाई गई है। ड्यूटी के बाद आपको आराम दिया जाऐगा। ड्यूटी के दौरान अलर्ट रहकर जनता की सेवा करते हुए अपराधी व अपराधिक गतिविधियों पर अकुंश लगाएं।
पुलिस आयुक्त महोदय ने दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि, अक्सर देेखने में आता है कि पीसीआर, राईडर पर 2 जवान 24 घण्टे के लिए तैनात होते है। 24 घण्टे लगातार ड्यूटी करना असम्भव है देखने में पीसीआर इलाके में होती लेकिन पुलिस कर्मचारी अलर्ट नहीे होते इसलिए इस बात को ध्यान में रखते हुए पुलिस नाकों पर पुलिस कर्मचारियों की दो और तीन शिफटों में डयूटियां लगाई गई है। पहली शिफ्ट सुबह 7.30 से शाम 3.30 तक होगी। दूसरी शिफ्ट शाम 3.30 से रात 11.30 तक होगी। तीसरी शिफट रात 11.30 से सुबह 7.30 तक होगी।
दो शिफ्टों में नाका ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मचारियों का डयूटी शयडुल भी प्रत्येक सप्ताह बदलता रहेगा। जो शिफ्ट-ए में ड्यूटी करेंगे वे अगले सप्ताह रात्री की शिफ्ट-बी की ड्यूटी करेंगें जो प्रत्येक सप्ताह इसी प्रकार रोटेट होता रहेगा।
नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारियों की रवानगी और वापसी संबधित थाना से ही होगी और अगर पीसीआर, राईडर और नाका पर तैनात कर्मचारी किसी प्रकार के अवकाश या रैस्ट पर जाता है तो संबधित एसएचओ के द्वारा उसके स्थान पर पुलिस कर्मचारी तुरंत प्रभाव से तैनात किया जाएगा। नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारियों को संबधित थाना के एसडीओ/जेडीयो प्रबंधक थाना के द्वारा समय पर चैक किया जाएगा और रात्रि गश्त के दौरान संबधित चैकिंग अधिकारी के द्वारा भी नाकों को चैक किया जाएगा।
नाका ड्यूटी के दौरान निम्नलिखित बातों का विशेष ध्यान रखा जाएगा

  • नाकों पर तैनात सभी पुलिस कर्मचारी रेफ़्लेक्टिंग जैकेट, बैरीकेड, बिलकिंग लाईट (चमकाने वाली लाईट) इत्यादि का प्रयोग करेगे।
  • यदि किसी वाहन में कोई महिला, वृृद्व/बीमार व्यक्ति बैठा हो तो उस वाहन को केवल संदिग्ध परिस्थितियों में ही चैक किया जाए।
  • नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारी विशेषकर दोपहिया वाहनों की ओरिजनल चाबी को चैक करेंगे। बिना नम्बर प्लेट वाहनो पर विशेष नजर रखेगे। 17 से 30 वर्ष के आयु वर्ग के चालको पर विशेष नजर रखेंगे।
  • नाकों से गुजरने वाली ब्लैक फिल्म वाली गाड़ियों को विशेष तौर पर चैक किया जाए।
  • नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारी जब चैकिंग नहीं कर रहे हो रैस्ट टाईम हो तो उस समय एक जवान बारी-बारी से दुरुस्त अवस्था में नाका ड्यूटी पर तैनात रहेगा और बाकी जवान अपने नाका प्वांइट के पास ही बैठें रहेगे।
  • प्रबंधक थाना, चैकी इन्चार्ज और रात्री चैकिंग अधिकारी अपने क्षेत्राधिकार के नाकों को समय पर चैक करेगें व नाकों पर तैनात पुलिस कर्मचारियों को उनकी ड्यूटी व जिम्मेदारियां के बारे में ब्रीफ करेगें।
  • पुलिस कंट्रोल रुम या किसी उच्च अधिकारी द्वारा जब भी किसी पीसीआर/राईडर को किसी जगह पर भेजा जाए तो वह पीसीआर/राईडर अपना कार्य समाप्त करके अपने बिंदू पर पहुंच कर पुलिस कंट्रोल रुम को सूचित करेगे।
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि, पुलिस आयुक्त महोदय के निर्देश अनुसार क्राईम स्टाफ के नाका पुलिस उपायुक्त, अपराध द्वारा अपने विवेक से अलग लगाए जाएगें। अपराध विभाग के नाका सुपरविजन अधिकारी संबधित डीसीपी/एसीपी होगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here