सिंचाई विभाग के कर्मचारी जर्जर हुई आवासीय कालोनी में रहने के लिए हो रहे है मज़बूर

0
10

न्यूज़ एनसीआर, (शारा गर्ग) 5 अगस्त – फरीदाबाद | सरकार द्वारा कर्मचारियों से मकानों में रहने के लिए लाइसेंस फीस वसूल की जाती है, लेकिन इन सरकारी क्वार्टरों की बरसों से मरम्मत नहीं हो रही हैं। सिंचाई विभाग के सेक्टर – 16 में 70 क्वार्टर है लेकिन इनकी हालत काफी खस्ता हो चुकी है। इन के खिड़की दरवाजे टूटे हुए हैं, जालियां और शीशे भी टूटे हुए हैं। मकानों की छतें में से बारिश का पानी अंदर टपकता रहता है। थोड़ी सी बारिश से पूरी कॉलोनी में पानी भर जाता है और सीवर लाइन भी चौक हो रही है। यह जानकारी हरियाणा सरकार पीडब्ल्यूडी मैकेनिकल वर्कर्स यूनियन की गेट मीटिंग में सर्व कर्मचारी संघ के मुख्य संगठन सचिव वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने दी। इस मीटिंग की अध्यक्षता सिंचाई विभाग लिपिक एसोसिएशन के प्रधान नरेंद्र नागर और मैकेनिकल वर्कस यूनियन के ब्रांच प्रधान जगदीश चंद्र ने संयुक्त रूप से की। वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए विभाग के अधिकारियों पर कर्मचारियों की मांगों की अनदेखी करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि सरकार ने कच्चे कर्मचारियों को नौकरी से नहीं हटाने के आदेश देने के बावजूद भी कार्यकारी अभियंता पुराने कच्चे कर्मचारियों को हटाकर इनकी जगह पर नए कर्मचारियों को लगाते रहते हैं उन्होंने चेतावनी दी है कि किसी सूरत में कर्मचारी को नौकरी से नहीं हटने देंगे और कहा कि नहर की पटरियों पर अवैध कब्जे हो रहे हैं लेकिन अधिकारी इनके विरुद्ध कोई भी कार्यवाही नहीं करते है। जिला प्रधान अतर सिंह ने बताया कि गुडग़ांव कैनाल के पंप हाउसों की दुर्दशा बनी हुई है आरडी 23 से आरडी 35 पर पीने के पानी की व्यवस्था नहीं है।

आज की बैठक को लिपिक एसोसिएशन के प्रधान नरेंद्र नागर, जिला सचिव गांधी सहरावत, सर्व कर्मचारी संघ के सह सचिव धर्मवीर वैष्णव, ब्रांच के सचिव देवी सिंह, वरिष्ठ उपप्रधान राजमन सर्व कर्मचारी संघ ब्लॉक बल्लभगढ़ के कोषाध्यक्ष जितेंद्र भडाना, मेकेनिकल ब्रांच प्रधान धर्म सिंह, चेयरमैन भूप सिंह, सिविल ब्रांच के चेयरमैन नेम चंद चौहान, रमेश वर्मा प्रतापगढ़ ने भी संबोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here