संपत्ति कर सर्वे के कार्य में एजेंसी के साथ सहयोग करें शहरवासी

0
29

न्यूज़ एनसीआर, 07 अगस्त-फरीदाबाद | नगर निगम के अतिरिक्त आयुक्त विक्रम सिंह ने कहा है कि निगम प्रशासन यह सुनिश्चित करेगा कि सम्पत्ति कर सर्वे के लिए सरकार के द्वारा अधिकृत एजेन्सी सर्वे का कार्य निर्धारित अवधि में पूरा करें। इस संबंध में आज सर्वे एजेन्सी मैसर्स याशी कन्सल्टिंग सर्विसिज प्राइवेट लिमिटेड के प्रतिनिधियों के साथ हुई एक बैठक में अतिरिक्त आयुक्त ने कंपनी के द्वारा अब तक किए गए सर्वे कार्य पर असंतुष्टि जाहिर करते हुए इस काम में तेजी लाने के निर्देश एजेन्सी को दिए। बैठक में अतिरिक्त निग्मायुक्त रोहताश बिश्नोई, क्षेत्रिय एवं कर अधिकारी (मु0) रतन लाल रोहिल्ला, प्रेम प्रकाश, विजय सिंह, अनिल रखेजा और सुनीता कुमारी भी उपस्थित थी जबकि सर्वें एजेन्सी की ओर से हरियाणा के प्रोजेक्ट हैड सुरेश कुमार और फरीदाबाद के प्रोजेक्ट हैड अश्विनी कुमार उपस्थित थे।

विक्रम सिंह ने बैठक को संबोधित करते हुए बताया कि निग्मायुक्त की ओर से सर्वे कार्य में सहयोग करने के लिए सभी पार्षदगणों को लिखित रूप में अनुरोध किया जा चुका है और शहर की सभी सामाजिक संस्थाओं, आरडब्ल्यएू को भी निगम प्रशासन की ओर से इस कार्य में सहयोग देने की अपील की जाएगी। अतिरिक्त आयुक्त ने शहरवासियों से भी अपील की है कि निगम क्षेत्र में उक्त सर्वें एजेन्सी द्वारा किए जा रहे सम्पत्ति कर के सर्वे के कार्य में वे पूर्ण सहयोग प्रदान करें। उन्होंने बताया कि निगम क्षेत्र में स्थित सभी मकानों, दुकानों, प्लाॅटो/भूमि व अन्य सम्पत्तियों का हरियाणा सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार सरकार द्वारा ही अधिकृत उक्त एजेंसी के द्वारा सर्वे किया जाना है। इस सर्वे के बाद सभी सम्पत्तियों व इससे सम्बन्धित सूचनाओं का संकलन आनलाईन प्रणाली पर किया जाएगा व हर एक सम्पत्ति का एक प्राॅपर्टी आई.डी. नम्बर भी दिया जाएगा, जो कि भविष्य के लिए काफी उपयोगी होगा। हरियाणा नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 104 व 145 के तहत सर्वे के इस कार्य में सम्पत्ति मालिकों के द्वारा सम्बन्धित सूचनाएं व सहयोग दिया जाना कानूनी तौर से भी अनिवार्य है और जो सम्पत्ति मालिक इससे मन करेगा उसके विरूद्ध कानूनी कार्यवाही अमल में लाने के निर्देश सभी क्षेत्रिय एवं कराधान विभागों को दे दिये गये है।

अतिरिक्त आयुक्त ने यह भी अपील की है कि सर्वे एजेंसी के कार्डधारी सर्वेयरों जो कि नगर निगम से भी अधिकृत हैं का पहचान पत्र देखकर समस्त सूचना व दस्तावेज सर्वेयर को सही-सही दें। सर्वे के समय बिजली के बिल, पानी के बिल, फोटो आईडी, आधार कार्ड, सम्पत्ति की रजिस्ट्री, रैन्ट एग्रीमैन्ट और दुकान से संबंधित लाईसैन्स की फोटोकापी मांगी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस सर्वे के लिए किसी भी प्रकार की फीस या शुल्क देय नहीं है और यदि कोई सर्वेयर इसकी मांग करता है तो इसकी सूचना अपने वार्ड पार्षद अथवा निगम कार्यालय में दी जाए। उन्होंने बताया कि सर्वे के बाद सम्पत्ति मालिक के द्वारा दिए गए मोबाइल नम्बर पर एक ओ0टी0पी0 के साथ-साथ टैम्परेरी यूनीक सर्वे आई.डी. प्राप्त होगा, जिसे सम्पत्ति मालिकों के द्वारा भविष्य की सुविधा के लिए नोट करके रखा जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here