स्वच्छ और सुंदर शौचालय बनाने वाले सरपंचों को किया सम्मानित

0
30
न्यूज़ एनसीआर, 02 जुलाई-फरीदाबाद | स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण अभियान के तहत स्थानीय लघु सचिवालय की बैठक कक्ष में अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह की अध्यक्षता में मंगलवार को स्वच्छ महोत्सव 2019 का आयोजन किया गया। जिला स्तरीय कार्यक्रम में स्वच्छ, सुन्दर शौचालय से संबंधित ग्राम पंचायतों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में जिला भर के स्वच्छता अभियान में बेहतर कार्य करने वाली ग्राम पंचायतों के सरपंच,  प्रतिनिधि, समाजसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश मोर, स्वच्छता अभियान के जिला कार्यक्रम प्रबंधक उपेंद्र सिंह सहित  संबंधित ग्राम पंचायतों के ग्राम सचिव भी उपस्थित रहे ।
कार्यक्रम में जिला स्वच्छता कार्यक्रम प्रबंधक उपेंद्र सिंह ने बताया कि भारत सरकार की हिदायतों अनुसार 1 जनवरी से 31 जनवरी 2019 तक सुंदर, शौचालय प्रतियोगिता जिला भर में करवाई गई थी। जिसमें ग्राम पंचायतों द्वारा अपने सार्वजनिक शौचालयों की साफ सफाई के साथ उनमें पेंटिंग भी की गई थी। इस अभियान को सफल बनाने के लिए ग्रामीणों को भी जागरूक किया गया था।
जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राकेश मोर ने कार्यक्रम में उपस्थित सरपंचों को संबोधित करते हुए कहा कि स्वच्छ जीवन जीने से शरीर बीमारियां नहीं होती, इसकै अलावा मानसिक रूप से बेहतर तरीके से कार्य करता है। उन्होंने सरपंचों से आह्वान करते हुए कहा कि वे गांव  की सफाई शहरी तर्ज पर करें ।उन्होंने कहा कि जिस प्रकार शहरों में कूड़ा करकट घरों से इकट्ठा किया जाता है, उसी तर्ज पर अपने अपने गांव में भी रेहडियों, ट्रॉलियो आदि में कूड़ा करकट इकट्ठा करें ताकि गांव में किसी प्रकार की गंदगी न फैले। उन्होंने आह्वान किया कि स्वच्छता अभियान के तहत गांव के सभी घरों में स्वच्छता सोख्ता गड्ढा बनाएं और उसकी पेमेंट विभाग से ले।
उन्होंने अलग-अलग स्कीमों के बारे भी सरपंचों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी। इसके अलावा सेवन स्टार स्कीम और उसके इनाम बारे भी जानकारी देते हुए बताया कि इसमें स्वच्छता, आपसी तालमेल, पर्यावरण, विकास कार्य शैक्षिक योग्यता सहित तमाम पहलुओं पर अलग-अलग गांव को सरकार द्वारा अलग-अलग स्टार प्रदान किए जा रहे हैं।
अतिरिक्त उपायुक्त धर्मेंद्र सिंह ने कहा कि स्वच्छता के साथ-साथ प्रत्येक सरपंच अपने गांव में जल संरक्षण के प्रति भी लोगों को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण करना अति आवश्यक है। दिन-प्रतिदिन भूजल स्तर गिर रहा है, जो एक चिंतनीय विषय है। उन्होंने सरपंचों से सोख्ता गड्ढा अपने-अपने गावों में प्रत्येक घरों में बनवाकर उसकी अदायगी विभाग द्वारा करवाए। कार्यक्रम में पुराने कुओं के नवीनीकरण सहित अन्य बेहतर प्रयास बारे आपस में सुझाव साझे करके उनके क्रियान्वयन बारे विचार विमर्श किया गया।
जिला स्तरीय कार्यक्रम में स्वच्छ सुंदर शौचालय प्रतियोगिता में 5 ग्राम पंचायतों को बेस्ट परफॉर्मेंस मिली। इनमें दयालपुर की सरपंच कृष्णा कुमारी, फरीदपुर की सरपंच सविता देवी, नरियाला के सरपंच योगेंद्र कुमार, मच्छगर के सरपंच नरेश धनखड़, मौजपुर के सरपंच नरोत्तम, भेंसरवाली के सरपंच भूदत शर्मा को सम्मानित किया गया।
इंडिविजुअल प्रतियोगिता में 6 लोगों को सम्मानित किया गया। इनमें गांव फतेहपुर बिलौच की हेमलता, भैंसरावली की कुमारी कोमल नागर, दयालपुर की कुमारी योगिता व कुमारी करीमा, फतेहपुर बिल्लौच के विनोद कुमार को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। बेस्ट स्वच्छ गृहणी प्रतियोगिता में चंदावली की सरपंच अंजू कुमारी को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here