भारतीय अप्रवासियों की मदद के लिए भारतीय प्रवासी परिषद उतरेगा मैदान में : डॉ तिवारी

0
60
न्यूज़ एनसीआर, 01 जुलाई-फरीदाबाद | भारतीय प्रवासी परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अजय तिवारी ने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात में एक निजी कंपनी में काम कर रहे 300 से अधिक प्रवासियो/अप्रवासियो ज्यादातर भारतीय लोगों को कई महीनो से अपना वेतन नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि यह जानकारी उनके पास कुछ निजी सूचनाकर्ताओ द्वारा दी गयी जिस पर हमने छानबीन की और यह बात सच्ची निकली। डॉ. अजय तिवारी ने कहा कि वेतन ना मिलने से प्रवासियो अप्रवासियो नागरिको को काफी दिक्कतों का सामना करना पड रहा है। उन्होंने कहा कि बताया जा रहा था कि दुबई में श्रमिकों की दुदर्शा एक साल पहले से ही आरंभ हो गयी थी और कर्मचारियों द्वारा यह बात भारत में रहने वाले अपने परिजनो को भी बतायी थी उसी के माध्यम से इस जानकारी को हमने निकाला है।
डॉ. अजय तिवारी ने प्रैस को जारी विज्ञप्ति में स्पष्ट शब्दों में कहा है कि जल्द ही इन प्रवासियो/अप्रवासियो की सहायता ना की गयी तो भारतीय प्रवासी परिषद कोई कड़ा कदम उठायेगा और इन प्रवासियो की मदद के लिए स्वयं मैदान में उतरेगा। उन्होंने कहा कि प्रवासियो के हितों की रक्षा करना भारतीय प्रवासी परिषद का मकसद है और ऐसे में हमारे प्रवासी भाई जो इस समय काफी परेशान व मुसीबत में है हम उनके साथ है और हम उन्हें आश्वासन देते है कि
जल्द ही आपकी इस समस्या का समाधान कर दिया जायेगा उन्होने कहा कि अगर जल्द ही सुविधाएं ना दी गयी तो प्रवासी मंत्रालय पर घेराव व आंदोलन के बारे में भी भारतीय प्रवासी परिषद विचार विमर्श करेगा। डॉ. अजय तिवारी ने कहा कि वहा काम कर रहे कुछ लोगों को तीन महीने से वेतन नही मिला है जबकि कुछ अन्य लोगों को पांच या अधिक महीनो से वेतन नही मिला है। श्रमिकों को भोजन और स्वास्थ्य सहित अन्य कई कार्यो का करने में काफी परेशानी का सामना करना पड रहा है।
उन्होंने कहा कि उनमें से कई श्रमिक भारत लौटना चाहते है कयोकि उनके वीजा की अवधि समाप्त हो गयी है लकिन उनके नियोक्ता ने वीजा का नवीनीकृत करने से मना कर दिया है। उन्होंने कहा कि भारतीय वाणिज्य दूतावान ने भी कहा है कि अधिकारी कंपनी का दौरा कर सबंधी लोगों से बातचीत करके समस्या के समाधान की कोशिश करते है। डॉ. अजय तिवारी ने कहा कि भारतीय प्रवासी परिषद ने इस समस्या से निपटने के लिए एकजुटता दिखाते हुए जल्द ही इस समस्या के समाधान का हल निकालने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि भारतीय महावाणिज्य दूत विपुल ने भी यूएई के नियोक्ताओं ने कुछ श्रमिकों को एक महीने का वेतन दे दिया है डॉ. अजय तिवारी ने कहा कि किसी भी देश, प्रदेश व जिला में आज प्रवासियों की हर कार्य में प्राथमिकता मिलती है और प्रवासी सदेव सुख शान्ति बनाये रखते हुए अपना योगदान देते है ऐसे में दुबई मे रह रहे इन प्रवासियो/अप्रवासियो की मदद के लिए हम सभी को आगे आना होगा और हमें उनकी मदद करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here