आशा वर्कर यूनियन फरीदाबाद ने शुरू किया अनिश्चितकालीन धरना

0
14
न्यूज़ एनसीआर, 02 जुलाई-फरीदाबाद | आशा वर्कर यूनियन हरियाणा की जिला कमेटी फरीदाबाद ने अपनी लंबित मांगों की प्राप्ति के लिए राज्य कमेटी के आह्वान पर आज बुधवार को सिविल सर्जन बादशाह खान अस्पताल के कार्यालय के सम्मुख अनिश्चितकालीन धरना आरंभ कर दिया। आज के धरने की अध्यक्षता जिला प्रधान हेमलता ने की जबकि कार्यवाही का संचालन जिला सचिव सुधा पाल ने किया। इस अवसर पर सीआईटीयू के जिला प्रधान निरंतर पाराशर, जिला सेके्रट्री लाल बाबू शर्मा और सर्व कर्मचारी संघ के मुख्य संगठन सचिव वीरेंद्र सिंह डंगवाल विशेष तौर पर उपस्थित रहे।
धरने पर उपस्थित कर्मचारियों को संबोधित करते हुए वीरेंद्र सिंह डंगवाल ने राज्य सरकार पर वायदा खिलाफी करने का आरोप लगाया। उन्होंने बताया कि आशा वर्कर यूनियन को विगत चार बरसों मे अनेकों हड़ताल करनी पड़ी। लेकिन सरकार ने यूनियन के साथ हुए समझौते को हूबहू लागू नहीं किया। इसकी नोटिफिकेशन समझौते के अनुसार जारी नहीं की गई। आशा वर्कर यूनियन ने अपनी लंबित मांगों की प्राप्ति के लिए मिशन डायरेक्टर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हरियाणा पंचकूला को ज्ञापन भेजा है जिसमें 45 वें श्रम सम्मेलन की सिफारिशों को लागू करने, सभी आशा वर्कर को न्यूनतम वेतन 18 हजार प्रतिमाह देने, सभी वर्कर्स को सामाजिक सुरक्षा जैसे ईएसआई और पीएफ प्रदान करने, हर महीने की 10 तारीख से पहले प्रोत्साहन राशियों का पैसा खातों में जमा करने एके साथ साथ स्टेट और सेंटर की सभी प्रोत्साहन राशियों का भुगतान एक साथ करने इसके अलावा सेल्फ अप्रेजल की बुक स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी जाए और इसके अक्षरों का साइज थोड़ा बड़ा किया जाए ताकि रिपोर्ट लिखने में सुविधा हो सके। यूनियन ने एनसीडी का पूरा सामान और उसकी
गाइडलाइन देने की मांग भी की है। इसके अलावा सभी आशाओं के पास एनसीडी के रजिस्टर होने चाहिए आशाओं को रजिस्टर फोटो कॉपी करवाने को कहा जाता है लेकिन फोटो कॉपी करने की राशि विभाग से नहीं मिलती है।
डंगवाल ने बताया कि सभी आशाओं को आयुष्मान भारत योजना का हिस्सा बनाया जाए ताकि उन्हें भी अपने बच्चों का इलाज करने की सुविधा प्राप्त हो सके। इसके साथ साथ ट्रेनिंग में खाने की गुणवत्ता तथा स्टेशनरी अच्छी प्रकार की प्रदान की जाए। ट्रेनिंग के लिए गाइडलाइन भी उपलब्ध करवाई जाए। उन्होंने हरियाणा सरकार से एएमसी पर बढ़ाई गई राशि के लिए कंप्लीशन की शर्त को हटाने की मांग भी की।
उन्होंने बताया कि विभाग कर्मचारियों से काम तो ज्यादा लेता है लेकिन उन्हें न्यूनतम वेतन तक नहीं तक नहीं देता है। धरने में रेवाड़ी की हटाई गई दो आशा वर्करों अनीता और पप्पी की सेवाओं को बहाल करने की भी मांग की गई। आज के धरने को सर्व कर्मचारी संघ ब्लॉक फरीदाबाद के उप प्रधान रघुबीर चौटाला, सह सचिव दर्शन सिंह सोया, बल्लभगढ़ जोन के सह सचिव राकेश चिंडालिया, फरीदाबाद ब्लॉक के पूर्व सह सचिव मुकेश बेनीवाल के अलावा संगीता और सुशीला ने भी संबोधित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here