15 दिवसीय योग शिविर का हुआ समापन

0
40

न्यूज़ एनसीआर, 28 जुलाई-पलवल | एसएफडी (स्टूडैंट फॉर डवलपमैंट) के तत्वावधान मे पतंजलि युवा भारत द्वारा आयोजित रविवार को गाँव कुसलीपुर स्थित कौशिक गार्डन मे 15 दिवसीय योग शिविर का समापन हवन के साथ हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि दीपक मंगला रहे और कार्यक्रम की अध्यक्षता विभाग प्रमुख योगेश कौशिक ने की। विशिष्ट अतिथि स्वदेशी जागरण मंच से महेश गौड़, पत्रकार अनूप पाराशर, दामोदर भारद्वाज, दीपक शर्मा, जगदीश रावत, अमित अत्रि, विशाल भारद्वाज, डां जेपी कौशिक रहे। इस अवसर पर 11 शिक्षार्थीयों को योग का प्रमाण पत्र प्रदान किया। दीपक मंगला ने कहा आज के समय मे योग का चलन बढ़ा है और पूरी विश्व योग को अपनाकर अपने जीवन को स्वस्थ बना रहा है योग पूरी दुनिया के अस्वस्थ लोगो में एक प्रकाश बनकर आया है यही कारण की आज पूरा विश्व अपने भारत के आह्वान पर 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाता है। कार्यक्रम अध्यक्ष योगेश कौशिक ने बताया कि एसएफडी का उद्देश्य है कि वह समाज के हर वर्ग को विकास की मुख्यधारा मे लाकर उनके कल्याण के लिए कार्य करे, चाहे शारीरिक विकास हो या बौद्धिक विकास हो और बताया कि हर किसी को समाज व देश के हित मे सकारात्मक सोच के साथ कार्य करना चाहिए।

विशिष्ट अतिथि महेश गौड़ ने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति योग करके ही तनावमुक्त रहकर आनंदमय जीवन जी सकता है योग करने से मनुष्य की सोचने की शक्ति बढ़ती है और दिनचर्या मे खुश रहकर अपने कार्य को पूरी निष्ठा से करता है। अनूप पाराशर ने बताया कि योग अपनाने से शरीर निरोगी बनता है और शरीर मे स्फूर्ति आती है जिससे दिनचर्या खुशनुमा होती है उन्होने बताया की मै भी लंबे समय से योग से जुड़ा हुआ हूं और प्रतिदिन योग करता हूँ। योग शिविर मे योग प्रशिक्षक एवं युवा भारत के जिला प्रभारी वीरपाल भारद्वाज, बिजेंद्र मास्टर, कविता भारद्वाज ने 15 दिन लगातार कठिन मुद्राओं में आसन करना एवं योग मे अद्भुत प्रदर्शन करना सिखाया। साथ ही साथ शिविर मे कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भस्त्रिका, उज्जाई प्रणाम के साथ सूक्ष्म व्यायाम, रबड़ क्रिया, जल क्रिया एवं योगासन में ताड़ासन, वृक्षासन, त्रिकोणासन, गरुड़ासन, चक्रासन, भुजंगासन, वज्रासन, मंडूकासन, उष्टासन व हलासन सहित सभी प्रकार के जोड़ों के दर्द के लिए सूक्ष्म व्यायाम भी कराए साथ ही साथ योग से होने वाले लाभ के बारे में भी गहराई से बताया।

इस अवसर पर अतिथियों को फलदार पौधे भेंट किए गए। अतिथियों ने सभी से आह्वान किया कि इस तरह के कार्यक्रम होने से समाज मे समरसता व भाईचारे को बढ़ावा मिलता है और सभी को ऐसे कार्यक्रमो बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए। शिविर मे विशेष रूप से नरेश कौशिक जी, दीपचंद जी, सुरेंद्र जी, ईश्वर जी, वेदपाल भड़ाना जी, रघुवीर जी, वीरभान जी, राजेश जी, अमरसिंह जी, आनंद जी, चंद्रकांत जी, पवन जी, अनिल जी, सुभाष जी, इदंरजीत जी, सुमरपाल जी, भूदेव जी, देशराज जी, किशन जी, रामकुमार जी एवं समस्त गाँव के बुजुर्ग, युवा साथी सहित सभी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here