अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए निगम सफाई कर्मचारियों ने किया हड़ताल का एलान

0
3
न्यूज़ एनसीआर, 29 मई-फरीदाबाद | फरीदाबाद, 29 मई। निर्दोष सफाई निरीक्षक को बहाल करने व ब्याजमुक्त गेहूं ऋण देने की मांग को लेकर नगर निगम के कर्मचारियों ने किया टूल डाऊन हड़ताल करने का ऐलान। इस टूल टाऊन हड़ताल में चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों सहित साढ़े चार हजार कर्मचारी भाग लेगें। यह ऐलान नगरपालिका कर्मचारी संघ, हरियाणा के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री ने कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए किया। शास्त्री ने निगमायुक्त पर बेरूखी व तानाशाही का आरोप लगाते हुए कहा कि पिछले आठ दिनों से भोजन अवकाश के समय निगम मुख्यालय पर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे। कर्मचारियों को आशा थी कि निगमायुक्त के आने के बाद कर्मचारियों को गेहूं ऋण दे दिया जायेगा, निगमायुक्त व यूनियन के बीच हुई वार्ता में निगमायुक्त ने आर्थिक तंगी का बहाना बनाकर सरकार से पैसा आने के बाद गेहूं ऋण देने की बात कही। इस पर यूनियन नेताओं ने असहमति जताते हुए आन्दोलन को तेज करने का फैसला लिया। कल से सफाई, सीवर, बागवानी आदि सभी चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी टूल डाऊन हड़ताल पर रहेगें।
कर्मचारियों ने रोज की भांति आज भी निगम मुख्यालय पर कर्मचारी सभा की सभा के बाद कर्मचारी गगनभेदी आवाज में नारे लगाते हुए शहर के मुख्य मार्ग बीके-नीलम रोड़ पर जोरदार प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व संघ के राज्य प्रधान नरेश कुमार शास्त्री, राज्य सचिव सुनील कुमार चिण्डालिया, जिला वरिष्ठ उपप्रधान गुरचरण खाण्डिया, जिला सचिव नानकचंद खैरालिया, सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, सचिव सोमपाल झिझोटिया ने किया।
कर्मचारियों को सम्बोधित करते हुए सफाई कर्मचारी यूनियन के प्रधान बलवीर सिंह बालगुहेर, सीवरमैन यूनियन के प्रधान सुभाष फेटमार, बेलदार यूनियन के प्रधान विरेन्द्र, चालक यूनियन के प्रधान रामकिशोर त्यागी व वेद भड़ाना, एएसआई यूनियन के प्रधान राजेन्द्र दहिया ने सामूहिक रूप से टूल डाऊन हड़ताल का समर्थन करते हुए कहा कि जब तक सभी नियमित एवं अनियमित कर्मचारियों को गेहूं ऋण, बकाया वेतन, विवाह, ऋण, सेवानिवृत कर्मचारियों की बकायाजात, सीवरमैन यूनियन व ईको ग्रीन के साथ हुई बैठक में हुए समझौतों को लागू करवाने की अदायगी, शिक्षा भत्ता, एलटीसी, एनजीटी के मामले में सफाई निरीक्षक प्रमोद शर्मा, सहायक सफाई निरीक्षक नरेन्द्र व सह सफाई निरीक्षक विशाल पारछा (पार्ट-1) को बहाल नहीं किया जाता, तब तक आन्दोलन जारी रहेगा। कर्मचारी नेताओं ने निगम के बड़े अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि एनजीटी मामले में अपनी गर्दन बचाने के लिए निर्दोष सेनीटेशन स्टाफ को बलि का बकरा बनाया गया है। इसका यूनियन डटकर विरोध करेगी।
आज की सभा को अन्य के अलावा कर्मी नेता नंद ढकोलिया, जितेन्द्र, रघुबीर चौटाला, विजय चावला, बल्लू चिण्डालिया, दर्शन सिंह सोया, रविन्द्र टांक, प्रेमपाल, महेन्द्र कुण्डिया, वेद प्रकाश, दान सिंह, नरेश कुमार भगवाना, देशराज डाबर, सूरजकीर, धर्म सिंह मुल्ला, राजबीर चिण्डालिया, देवेन्द्र कुमार, महिला विंग की नेता माया, कमला, शकुन्तला, सत्तो देवी, ज्ञानो देवी, बबीता सहित अनेकों कर्मचारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here