आपदाग्रस्त व आपदा में फंसे व्यक्तियों के लिए ब्रिगेड सदस्यों की मॉकड्रिल आयोजित की गई

0
3
न्यूज़ एनसीआर, 30 मई-फरीदाबाद | राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सराय ख्वाजा की सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड और जूनियर रेड क्रॉस ने प्राचार्या नीलम कौशिक की अध्यक्षता व ब्रिगेड अधिकारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा के मार्गनिर्देशन में त्रिमासिक परेड का अभ्यास किया, साथ ही मॉक ड्रिल का भी छदम अभ्यास करते हुए फर्स्ट एड पोस्ट लगाई तथा घायलों को प्राथमिक चिकित्सा दी गई।
अंग्रेजी प्रवक्ता व जे आर सी तथा एस जे ए बी प्रभारी रविन्द्र कुमार मनचन्दा ने बताया कि सैंट जॉन एम्बुलेंस ब्रिगेड के सदस्यों को किसी भी समय आपातकालीन स्थिति का सामना करने के लिए प्रशिक्षण और छदम अभ्यास द्वारा समय समय पर तैयार किया जाता है यह आपातकालीन स्थिति प्राकृतिक या मैन मेड हो सकती है, ऐसी स्थिति में आपदाग्रस्त व आपदा में फसे व्यक्तियों के लिए राहत व बचाव कार्यों के संचालन के लिए ब्रिगेड के सदस्य तत्पर रहते है। आज ब्रिगेड सदस्यों ने कैप्टन विशाल के नेतृत्व में मार्च पास्ट किया और प्राचार्या नीलम कौशिक और ब्रिगेड प्रभारी को सलामी देते हुए शानदार अनुशासन का नमूना प्रस्तुत किया। छदम अभ्यास में विस्फोट और आगजनी में घायल हुए पीड़ितों को उपलब्ध संसाधनों का बुद्धिमत्ता पूर्वक उपयोग करते हुए प्राथमिक सहायता उपलब्ध करवा के उन के घरवालों व संबंधियों को सूचित करते हुए निकटतम हॉस्पिटल के लिए निवर्तन करवाया गया। ब्रिगेड सदस्यों ने स्ट्रेचर न होने की अवस्था मे बेड शीट और कंबल की सहायता से घायल व्यक्तियों को प्राथमिक सहायता दे कर हॉस्पिटलाइज करवाया और उन के बहुमूल्य जीवन की रक्षा की।

मनचन्दा ने बच्चों को प्रशिक्षित करते हुए बताया कि यदि किसी इमारत या भवन में आग लगी हो तो मुँह, सर व नाक को गीले रुमाल, टॉवल, बेड शीट आदि से ढकते हुए रेंग कर या लेट कर भवन से तुरंत बाहर निकलने का प्रयास किया जाना चाहिए। प्राथमिक सहायता के मूल सिद्धांतों का पालन करके किसी भी दुर्घटना या आपदा के समय बेशकीमती जानों को बचाया जा सकता है। प्राचार्या नीलम कौशिक, रविन्द्र कुमार मनचन्दा, नरेंद्र कुमार, मधुबाला तथा अन्य अध्यापकों ने ब्रिगेड सदस्यों द्वारा किए गए प्रदर्शन की सराहना की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here