शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन बोर्ड फ्लाईंग ने परीक्षा के पहले दिन मारे छापे

0
43
न्यूज़ एनसीआर, (उदयचंद माथुर) 07 मार्च-हथीन | हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की बोर्ड परीक्षा के प्रथम दिन बोर्ड के चेयरमैन डा. जगवीर सिंह ने स्वंय अपनी टीम के साथ हथीन सहित पलवल जिले के कई परीक्षा केन्द्रों में छापा मारा। बोर्ड की फ्लाईंग टीम में चेयरमैन डा. जगवीर सिंह के साथ रीतिक, कृष्ण, सुमन व रवि आदि शामिल थे। इस दौरान उन्होंने एक तरफ जहां राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय हथीन के परीक्षा केन्द्र में छापा मारकर 9 परीक्षार्थियों को नकल करते हुए पकडा। जबकि वहीं दूसरी तरफ राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (बाल) के परीक्षा केन्द्र में एक परीक्षार्थी को नकल करते हुए पकडा। इसके अतिरिक्त पलवल के दयानंद सीनियर सैकेंड्री स्कूल के तीनों सैंटरों के पेपर रदद कर दिए गए हैं। उक्त तीनों सैंटरों में नकल का बहुत बुरा हाल था। जिसके चलते तीनों सैंटरों के पेपर भिवानी बोर्ड के चेयरमैन डा. जगवीर सिंह ने रदद करने के आदेश दिए।
उल्लेखनीय है कि प्रदेश भर में हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की 12 वीं की बोर्ड परीक्षाएं 7 मार्च से शुरू हो चुकी हैं और 10 वीं की बोर्ड परीक्षा 8 मार्च से हैं। बोर्ड परीक्षा के प्रथम दिन 12 वीं कक्षा का अंग्रेजी का पेपर था। शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डा. जगवीर सिंह के नेतृत्व वाली छापामार टीम ने सर्वप्रथम हथीन के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (बाल) में छापा मारा। तत्पश्चात राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में छापा मारा। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय (बाल) में एक और राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 9 विद्यार्थियों को नकल करते हुए पकडा है। इसके बाद टीम ने शांति निकेतन स्कूल में छापा मारा जहां पर विद्यार्थी शांतिपूर्ण परीक्षा देते हुए मिले।
हथीन के पश्चात बोर्ड की टीम ने पलवल के कई परीक्षा केन्द्रों मेंछापा मारा, जहां पर दयानंद स्कूल में भारी अनियमितताओं के चलते तीनों सैंटरों के पेपर रदद कर दिए। नकल रहित परीक्षा कराना बोर्ड का कर्तव्य- डा. जगवीर सिंह चेयरमैन हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डा. जगवीर सिंह ने बताया कि नकल रहित परीक्षा कराना बोर्ड का मुख्य उददेश्य है। हम चाहते हैं कि विद्यार्थी नकल की बजाय अकल से परीक्षा दें वह चरितार्थ हो रहा है। बच्चे शांति से परीक्षा दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि पलवल जिले में 50 सैंटर हैं, जिनमें लगभग 16 हजार बच्चे परीक्षा दे रहे हैं। पलवल, होडल और हथीन में हमनें सैंटरों पर जाकर जांच की, तो हर जगह बच्चे शांति से परीक्षा देते हुए मिले। कहीं छोटी मोटी कमियां मिली हैं तो उन्हें पूरा करने के लिए प्रिंसिपल और सुपरीडेंट को बोल दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here