जमीनी स्तर पर काम कर रही मिशन जागृति संस्था, शुरू की ‘बिटिया संवेदना के लिए एक मुहिम’

0
26
न्यूज़ एनसीआर, 10 मार्च-फरीदाबाद | फरीदाबाद शहर की अग्रणी सामाजिक संस्था ‘मिशन जागृति’ जो हमेशा ही समकालीन सामाजिक घटनाओं के प्रति संवेदनशील रही है और समय-समय पर समाज में जागरूकता फैलाने का कार्य करती रही है ने आज अपना एक नया अभियान प्रारंभ किया है। मिशन जागृति के संस्थापक प्रवेश मलिक ने इस अभियान को ‘बिटिया संवेदना के लिए एक मुहिम’ का नाम दिया है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य समाज में होने वाली यौन-शोषण या यौन अपराध की घटनाओं के प्रति जागरूकता फैलाना है।
इस अभियान को प्रारंभ करने के इस अवसर पर संस्था के संस्थापक प्रवेश मलिक के साथ डॉ. हेमंत अत्रि, सुनील डांगी, मुनीश पंडित, राजेश भूटिया, महेश आर्य, विकास कश्यप, डालचंद शर्मा, विपुल शर्मा, विकास चौधरी, इकबाल, चन्द्रभान, डॉ. रुचिरा खुल्लर, अनुष्का, प्रीती, अर्चना, शुबलेश, सभी वोलेंटियर उपस्थित थे। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य समाज के प्रत्येक व्यक्ति को समाज की प्रत्येक स्त्री के प्रति अपनी जिम्मेदारी का अहसास दिलाना है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए एक ‘घोषणा- पत्र ‘ का निर्माण किया गया है। इस घोषणा पत्र का निर्माण भी संस्था के कार्यकर्ता डालचंद तथा वोलेंटियर आशा भड़ाना के सहयोग से किया गया। इस घोषणा पत्र के द्वारा लगभग एक लाख लोगों को इस घोषणा -पत्र पर हस्ताक्षर करवाकर इस उद्देश्य को प्राप्त करने का प्रयास किया जाएगा।
इस अवसर पर डॉ. हेमंत अत्रि और सुनील डांगी ने कहा कि मिशन जागृति का यह कदम समाज की ‘बिटिया’ को एक नया जीवन देगा। संस्था के संरक्षक मुनेश पंडित और तेजपाल ने कहा कि फरीदाबाद से शुरू हुए इस ‘बिटिया संवेदना के लिए एक मुहिम’ अभियान को पूरे हरियाणा सहित देश भर में ले कर जाएंगे। इस अभियान तथा मिशन जागृति के विषय में लोगों तक अपना संदेश पहुंचाने के लिए संस्था के संस्थापक प्रवेश मलिक ने कहा कि – मेरे जीवन का यही उद्देश्य है कि मेरे हिस्से में और मेरे संपर्क में जितने लोग आएंगे उन सब को जगाने का या जागरूक करने का कार्य व प्रयास मैं करूंगा और मिशन जागृति के माध्यम से देश भर में यह प्रचार करूंगा कि, एक लक्ष्य है, एक विचार उठे नींद से हर नर- नार। क्योंकि एक जागा हुआ इंसान ही सही निर्णय ले सकता है अपने लिए और इस देश के लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here