भड़ाना बाबू वापस अपने घर लौटे, फरीदाबाद से लड़ सकते है लोकसभा चुनाव

0
171
न्यूज़ एनसीआर, 15 फरवरी-फरीदाबाद | प्रियंका गांधी के पूर्वी उत्तर प्रदेश का महासचिव बनने के बाद से कांग्रेस मजबूत होती नजर आ रही है। प्रियंका गांधी लगातार चौके छक्के मार रही है, वहीं यूपी में भाजपा को तगड़ा झटका लगा है। गुर्जर नेता की पहचान रखने वाले अवतार सिंह भड़ाना ने भाजपा का साथ छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। इसके अलावा यूपी के पूर्व गृहराज्य मंत्री व सीतापुर के भाजपा विधायक सुरेश राही के पिता रामलाल राही ने भी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली। अवतार सिंह हरियाणा के फरीदाबाद से तीन बार व मेरठ से एक बार सांसद रह चुके हैं। वर्तमान में वे प्रदेश के मुजफ्फरनगर के मीरपुर से विधायक हैं। उन्होंने गुरुवार को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के साथ विधायक पद से इस्तीफा दे दिया।

भड़ाना की पश्चिम यूपी और हरियाणा के गुर्जर बेल्ट में अच्छी पकड़ मानी जाती है। अवतार सिंह के रसूख का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 31 साल की उम्र में उन्हें बिना विधायक बने ही उन्हें मंत्री पद मिल गया था। दरअसल 1988 में हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री चौधरी देवीलाल ने उन्हें अपने मंत्रिमंडल में शहरी स्थानीय निकाय राज्य मंत्री बनाया था। हालांकि तब चौधरी देवीलाल के पुत्र और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री चौधरी ओमप्रकाश चौटाला के विरोध के कारण छह माह बाद ही भड़ाना की मंत्रिमंडल से विदाई हो गई थी। इसके बाद भड़ाना कांग्रेस में शामिल हो गए। फिर इनेलो में होते हुए बीजेपी पहुंचे। अब वे एक बार फिर कांग्रेस में घर वापसी कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here