तिगांव कॉलेज के एनीमिया भगाओ कार्यक्रम में डॉ. एमपी सिंह ने दिए टिप्स

0
15
न्यूज़ एनसीआर, 24 जनवरी-फरीदाबाद | राजकीय महाविद्यालय तिगांव में एनीमिया भगाओ पर एक दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें प्राथमिक सहायता और ग्रह परिचर्या के अधिकृत लेक्चरर तथा प्राथमिक सहायता और घर पर बुजुर्गों की देखभाल नामक पुस्तक के लेखक तथा एड्स कंट्रोल सोसायटी पंचकूला के अधिकृत मोटिवेटर डॉ. एमपी सिंह ने बतौर मुख्य वक्ता कहां कि खून की कमी को एनिमिया का नाम दे दिया जाता है। डॉ. एमपी सिंह ने कहा कि, यह कोई बड़ी बीमारी नहीं है इस को सिर्फ खान-पान के माध्यम से ही दूर किया जा सकता है। यदि प्रतिदिन आप सर्दियों के समय में 2 गाजर कच्ची चबाते हैं गुड और चने का सेवन करते हैं पालक मेथी सरसों तथा चने का साग खाते हैं तो कुछ ही चंद दिनों में एनीमिया दूर हो जाता है।
डॉ. एमपी सिंह ने अपना गहन चिंतन करते हुए कहा कि, आजकल की बालिकाएं अधिकतर हेल्थ कॉन्शियस है इसलिए बहुत ही सोच समझ कर खाना खाती हैं और दूध घी के नजदीक भी नहीं जाती हैं लेकिन मौका लगे तो फास्ट फूड को छोड़ते भी नहीं है। डॉ. एमपी सिंह ने दिशा निर्देश करते हुए कहा कि, बाहर की बाजारी वस्तुओं तथा आलू से बनी हुई वस्तुओं जैसे समोसा कचोरी चौमीन, मोमोज, बर्गर, पिज़्ज़ा, कोल्ड ड्रिंक्स आदि को खाने से शारीरिक पौष्टिक और बलिष्ठ नहीं बनता है यदि आप पांच प्रकार के अनाज यानी बेजर की रोटी खाते हैं और बथुआ का रायता साथ में पीते हैं तो शारीरिक कमजोरी है दूर हो जाती है और शारीरिक सुंदरता भी दिखाई देने लगती है। सभी बालिकाओं ने मंत्रमुग्ध होकर डॉक्टर एमपी सिंह के भाषण को सुनना और अत्यंत रुचि दिखाई।
इस अवसर पर कॉलेज के प्राचार्य डॉ. रोहतास कुमार ने डॉक्टर एमपी सिंह का स्वागत किया तथा कोऑर्डिनेटर सपना नागपाल ने धन्यवाद किया इस अवसर पर कॉलेज के अन्य प्राध्यापक भी मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here