सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग द्वारा रात्रि प्रवास का आयोजन किया गया

0
15

न्यूज़ एनसीआर, 25 अक्टूबर-फरीदाबाद | गांव महावतपुर में सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग का द्वारा रात्रि प्रवास का आयोजन किया गया। रात्रि प्रवास कार्यक्रम की अध्यक्षता गांव के सरपंच प्रतिनिधि भान सिंह चौहान ने की।

उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने आम जन हितैषी होने का परिचय दिया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने समाज के हर वर्ग के कल्याण के लिए अनेकों कल्याणकारी योजनाएं बनाकर उन्हें क्रियान्वित करने का काम किया है। उन्होंने पंचायती राज संस्थाओं को दी जाने वाली सुविधाओं बारे ग्रामीणों को विस्तारपूर्वक जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि किस प्रकार पंचायती राज संस्थाएं ग्रामीणों व प्रशासन तथा  सरकार के बीच कड़ी का कार्य करके बेहतर तरीके से गांव का विकास करवा रही है। सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों बारे समाज के संबंधित वर्ग को अवगत कराने का काम कर रही है ।

रात्रि प्रवास कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए सहायक सूचना जनसंपर्क अधिकारी संजय कुमार ने कहा कि सरकार ने कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के माध्यम से किसानों की आय को दोगुना करने के लिए कई क्रांतिकारी कदम उठाए हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री कृषि बीमा योजना बारे जानकारी देते हुए बताया कि इस योजना का शुभारंभ प्रदेश में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में 2016 में
खरीफ फसल से शुरू किया गया था ।

इसके लिए प्रीमियम दर अधिकतम 2 प्रतिशत है। इसी प्रकार रबी फसल के लिए अधिकतम प्रीमियम दर 1.5 प्रतिशत है। वाणिज्य और बागवानी फसलों के लिए अधिकतम प्रीमियम दर 5 प्रतिशत है। फसल बीमा योजना के तहत किसानों को करोड़ों रुपए की धनराशि कंपनियों के माध्यम से सरकार ने मुआवजे के रूप में दिलाने का काम किया है।

उन्होंने बताया कि फसल बीमा योजना के तहत खड़ी फसल में सूखा, बाढ़, जलभराव, कीट एवं बीमारी, आसमानी बिजली, तूफान, चक्रवात व ओलावृष्टि आदि के सभी रिस्क शामिल है। इसके साथ-साथ कम वर्षा की भरपाई भी बीमा में शामिल है। उन्होंने आगे बताया कि किसानों के लिए सोयल हेल्थ कार्ड स्कीम का भी  क्रियान्वित किया गया है। जिसमें प्रदेश के 43. 34 सोयल हेल्थ कार्ड बनाए गए है ।

उन्होंने आगे बताया कि केंद्र सरकार ने खरीफ की फसल के लिए 14 फसलों के समर्थन मूल्य में उनकी उत्पादन लागत का कम से कम डेढ़ गुना कर दिया गया है। फसल की लागत मूल्य से डेढ़ गुना भाव किसानों की आय को बढ़ाने में कारगर सिद्ध होगा। उन्होंने फसल अवशेष प्रबंधन योजना के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रत्येक जिला में कस्टम हेयर सेंटर स्थापित किए गए हैं। इन के तहत कृषि यंत्रों पर किसानों को 50 से 80 प्रतिशत अनुदान राशि कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के माध्यम से किसानों को दी जा रही है। ताकि वे फसलें फसलों के अवशेष का प्रबंधन सुचारू रूप से कर सके ।

रात्रि प्रवास कार्यक्रम में लीडर भजन पार्टी धर्मवीर की टीम ने लोगों को सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का प्रसार प्रचार गीतों के माध्यम से किया। कार्यक्रम में उपस्थित लोगों ने सरकार व भजन पार्टी की वाहवाही भी की। रात्रि प्रवास के दौरान गांव के कई गणमान्य नागरिक, बुजुर्ग, युवा व बच्चे उपस्थित रहे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here