मिसबिहेव करने पर एक बोलीदाता की 50 हजार की सिक्योरटी राशि जब्त

0
28
न्यूज़ एनसीआर, (उदयचंद माथुर) 12 अक्टूबर-हथीन | हथीन लघु सचिवालय का बहुचर्चित पार्किंग का ठेका आखिरकार उपमण्डल प्रशासन ने शुक्रवार को छोड़ ही दिया। पार्किंग ठेके के साथ-साथ कैंटीन का भी ठेका छोड़ दिया गया है।
आपको बता दें कि पार्किंग एवं कैंटीन का ठेका एक लाख 86 हजार की बोली पर हथीन निवासी मोतीराम पंडित के नाम सर्वाधिक बोली पर छोड़ा गया है। इस अवसर पर एसडीएम सुरेश कुमार चहल, तहसीलदार बिजेन्द्र राणा, नायब तहसीलदार प्रेमप्रकाश गौड, नाजर जोगेन्द्र चौहान एवं प्रवाचक अहमद जान के अलावा सुरक्षा की दृष्टि से हथीन थाना प्रभारी कर्मवीर खटाना एवं पुलिस बल के अधिकारी मौजूद रहे।
इस मौके पर बोली लगाने वाले एक अन्य बोलीदाता की 50 हजार रूपये सिक्योरटी को भी जब्त किया गया है। जानकारी के अनुसार आपको बता दें कि उसने एक दम 4 लाख रूपये की बोली लगाकर प्रशासन को गुमराह करने का प्रयास किया था। जिस पर एसडीएम सुरेश कुमार चहल ने कडा संज्ञान लेते हुए 50 हजार रूपये जब्त करने के आदेश दे दिए। जिसके चलते सरकार को 2 लाख 36 हजार रूपये का लाभ हुआ है।
लघु सचिवालय कैंपस के पार्किंग एवं कैंटीन का ठेका छोड़ने के लिए एसडीएम सुरेश कुमार चहल ने 5 अक्टूबर को नोटिस जारी किया था कि 12 अक्टूबर को पार्किंग और कैंटीन का ठेका 15 अक्टूबर 2018 से 31 मार्च 2019 की अवधि तक सार्वजनिक बोली पर छोड़ा जाना है। जिस पर शुक्रवार 12 अक्टूबर को लघु सचिवालय स्थित एसडीएम कार्यालय में एसडीएम सुरेश कुमार चहल के नेतृत्व में उनके द्वारा गठित की गई टीम द्वारा ठेका छोड़ने की प्रक्रिया अमल में लाई गई।
इस अवसर पर 10 बोली दाताओं ने निर्धारित सिक्योरटी राशि 50 हजार रूपये जमा कराई और सर्वप्रथम बोली 60 हजार रूपये की मोतीराम पंडित ने लगाई। जोकि बढ़ते-बढ़ते एक लाख 86 हजार तक पहुंच गई। अंतिम बोली पर एसडीएम सुरेश कुमार चहल ने अंतिम बोली दाता के नाम पार्किंग और कैंटीन का ठेका 15 अक्टूबर 2018 से 31 मार्च 2019 की अवधि तक नाम करने के साथ साथ उस बोलीदाता की 50 हजार रूपये सिक्योरटी राशि जब्त करने के भी आदेश जारी किए, जिसने मिसबिहेव किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here